अखिलेश के घोषणापत्र में पांच साल के ‘कारनामों’ को छिपाने की योजना

अखिलेश के घोषणापत्र में पांच साल के ‘कारनामों’ को छिपाने की योजना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को पार्टी का चुनाव घोषणापत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र में पांच साल की सरकार में उत्तर प्रदेश में हुए लूट, व्यभिचार, भ्रष्टाचार, दंगों की घटनाओं, ताबड़तोड़ हत्या की घटनाओं को छिपाने की शानदाय योजना तैयार की

पाकिस्तान के सब्जी मंडी में विस्फोट से 20 की मौत

पाकिस्तान के सब्जी मंडी में विस्फोट से 20 की मौत

पेशावर। पाकिस्तान के अशांत उत्तर पश्चिमी क्षेत्र कुर्रम एजेंसी में भीडभाड वाली सब्जी मंडी में शनिवार को एक भीषण विस्फोट हुआ जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए और करीब 50 अन्य घायल हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट अफगान सीमा के पास स्थित कुर्रम एजेंसी इलाके में

पिछले 10 वर्षों में अद्भुुत चीजें हुई हैं : ओबामा

पिछले 10 वर्षों में अद्भुुत चीजें हुई हैं : ओबामा

वॉशिंगटन। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शुक्रवार को कहा कि पिछले 10 वर्षों के दौरान अद्भुत चीजें हुई हैं तथा ये सब पूरा हो सका क्योंकि इस देश को उनसे उम्मीद थी और उनमें विश्वास था। ओबामा ने एयरफोर्स वन में आखिरी बार सवार होने से पहले कहा, जैसा

हम दुनिया से इस्लामिक टेररिज्म खत्म कर देंगे

हम दुनिया से इस्लामिक टेररिज्म खत्म कर देंगे

वॉशिंगटन। 70 साल के डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार रात यूएस के 45वें प्रेसिडेंट के तौर पर शपथ ली। चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स ने उन्हें शपथ दिलाई। अब्राहम लिंकन और मां से मिली बाइबल पर हाथ रखकर शपथ लेने के बाद ट्रम्प ने स्पीच दी। इसमें उन्होंने दो बातें साफ कर

अखिलेश की अगुवाई में गंठबंधन पर संकट के बादल

अखिलेश की अगुवाई में गंठबंधन पर संकट के बादल

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी व कांग्रेस का घोषित गठजोड़ आकार लेने से पहले ही टूट सकता है। ऐसे में दोनों दल अकेले चुनाव मैदान में जा सकते हैं। मालूम हो कि परसों ही रालोद को गंठबंधन से अलग रखने का एलान करते हुए सपा उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने महागंठबंधन की

बौद्ध करमापा और विदेशी पर्यटक बने रिकॉर्ड का हिस्सा

बौद्ध करमापा और विदेशी पर्यटक बने रिकॉर्ड का हिस्सा

पटना। बिहार में शराबबंदी के समर्थन में शनिवार को आयोजित मानव श्रृंखला ने अस्सी के दशक में बॉलीवुड ने वर्ष 1978 में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन अभिनीत कसमें वादे नाम से एक फिल्म के ‘मिले जो कड़ी-कड़ी इक जंजीर बने, प्यार के रंग भरो जिंदा तस्वीर बने’ गीत को

भाजपा में सहयोगी दलों से तालमेल को ले उलझन

भाजपा में सहयोगी दलों से तालमेल को ले उलझन

लखनऊ। उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा सहयोगी दलों को लेकर उलझन में है। लिहाजा वह दूसरी सूची जारी नहीं कर पा रही है। भाजपा ने पहली सूची में 149 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद उसे गुरुवार को दूसरी सूची जारी करनी

मुलायम के करीबी अंबिका चौधरी बसपा में शामिल

मुलायम के करीबी अंबिका चौधरी बसपा में शामिल

लखनऊ। मुलायम के करीबी और विश्वासपात्र रहे सपा नेता अंबिका चौधरी शनिवार मायावती की उपस्थिति में बसपा में शामिल हो गये। उन्होंने कहा कि मैंने सपा के सारे पद छोड़ दिये हैं और आज से बसपा के लिए पूरी तरह समर्पित हूं। इस मौके पर मायावती ने कहा कि अंबिका

पाकिस्तान ने भारतीय सैनिक चंदू चव्हाण को छोड़ा

पाकिस्तान ने भारतीय सैनिक चंदू चव्हाण को छोड़ा

नई दिल्ली। पिछले एक साल से तल्ख चल रहे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में अचानक ही उम्मीद की एक नई किरण सी दिखाई देने लगी है। पाकिस्तान ने रास्ता भटककर अपनी सीमा में घुस आए भारतीय सैनिक चंदू बाबूलाल चव्हाण को छोड़ दिया है।चव्हाण को 29 सितंबर, 2016 को

मोदी ही होंगे UP में भाजपा के सबसे बड़े प्रचारक

मोदी ही होंगे UP में भाजपा के सबसे बड़े प्रचारक

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के चुनावी महासंग्राम के लिए भाजपा ने अपने 40 स्टार प्रचारकों की सूची चुनाव आयोग को सौंप दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जाहिर तौर पर भाजपा के नंबर वन स्टार प्रचारक होंगे।पीएम के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से लेकर तमाम

अखिलेश के घोषणापत्र में पांच साल के ‘कारनामों’ को छिपाने की योजना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को पार्टी का चुनाव घोषणापत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र में पांच साल की सरकार में उत्तर प्रदेश में हुए लूट, व्यभिचार, भ्रष्टाचार, दंगों की घटनाओं, ताबड़तोड़ हत्या की घटनाओं को छिपाने की शानदाय योजना तैयार की गई है।अखिलेश यादव ने चुनाव घोषणापत्र 2017 को लोगों के बीच रखते हुए कहा कि सपा 2012 में बनाए घोषणापत्र को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने संतुलित विकास करने का काम किया है। मेट्रो बनाई, एक्सप्रेस वे बनाया। 108 एंबुलेंस एक फोन पर आती है। यूपी का कोई जिला नहीं बचा, जहां बड़ा काम नहीं हुआ। पहले बिजली नहीं आती थी। आज गांवों में 16-18 घंटे बिजली है। उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां बिजली की आपूर्ति न हो पाने के कारण उद्योग बंद हो गए और कोई उद्यमी उत्तर प्रदेश में निवेश करने को तैयार नहीं। पांच साल की सरकार में प्रदेश के 35 जिलों में मुख्य चिकित्साधिकारी की तैनाती नहीं की जा सकी। प्रभारी बनाकर काम चलाया गया। थानों में जाति विशेष के लोगों को तैनात किया गया। सेतु निगम और उत्तर प्रदेश कारपोरेशन लिमिटेड जैसी संस्थाओं को पूरी तरह से लूट लिया गया। लोक निर्माण विभाग और सिंचाई विभाग के कार्यालयों में ठेके लेने के लिए दिनदहाड़े गोलियां चलती रहीं। इलाहाबाद न्यायालय में सरेआम अधिवक्ता की हत्या की गई, डॉक्टर की हत्या की गई। बेरोजगारी भत्ता फ्लाप हो गया। युवाओं के लिए रोजगार का सृजन नहीं किया गया। पूरी सरकार में केवल घर परिवार और रिश्तेदारों को मलाई खिलाई जाती रही। अब इन बातों को छिपाने से कौन भूल सकेगा। अब तो समय आ गया है जब उत्तर प्रदेश की समझदार जनता इन ‘ना-समझ’ लोगों को सबक सिखाएगी।
घोषणा पत्र की बड़ी बातें
—गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर, अत्यंत गरीब को गेहूं और चावल दिए जाएंगे
—1 करोड़ लोगों को 1000 रुपए पेंशन
—रोडवेस बस में महिलाओं का आधा किराया
—ओल्ड एज होम वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनाए जाएंगे
—लैपटॉप के साथ समाजवादी स्मार्ट फोन योजना
—डेढ़ लाख सालाना वेतन वाले को मुफ्त इलाज
—यूपी के हर गांव को 24 घंटे बिजली मिलेगी
—वोकेशनल ट्रेनिंग सेंटर बनाने का काम करेंगे
—-ट्रैफिक समस्या का स्थायी समाधान होगा

पाकिस्तान के सब्जी मंडी में विस्फोट से 20 की मौत

पेशावर। पाकिस्तान के अशांत उत्तर पश्चिमी क्षेत्र कुर्रम एजेंसी में भीडभाड वाली सब्जी मंडी में शनिवार को एक भीषण विस्फोट हुआ जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए और करीब 50 अन्य घायल हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि विस्फोट अफगान सीमा के पास स्थित कुर्रम एजेंसी इलाके में प्रशासनिक मुख्यालय पराचिनार के ईदगाह बाजार स्थित भीडभाड वाली सब्जी मंडी में हुआ। अधिकारियों ने बताया कि शुरआती रिपोर्ट से पता चलता है कि विस्फोटक को सब्जी के टोकरे में छिपाया गया था। सब्जियों की बिक्री के दौरान इसमें विस्फोट हो गया जिससे 20 लोग मारे गए और 50 अन्य घायल हो गये। सब्जी मंडी में सुबह आठ बजकर 50 मिनट पर आईईडी विस्फोट हुआ।

पिछले 10 वर्षों में अद्भुुत चीजें हुई हैं : ओबामा

वॉशिंगटन। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शुक्रवार को कहा कि पिछले 10 वर्षों के दौरान अद्भुत चीजें हुई हैं तथा ये सब पूरा हो सका क्योंकि इस देश को उनसे उम्मीद थी और उनमें विश्वास था। ओबामा ने एयरफोर्स वन में आखिरी बार सवार होने से पहले कहा, जैसा कि मैंने 2004 में कहा था, यह कोई हवा में आशावाद नहीं था जो आप को इस कार्य को पूरा करने के लिए यहां तक लाया, यह आसान नहीं था, उन समस्यओं को जानबूझकर नजरअंदाज नहीं किया गया जो अमेरिका के सामने खड़ी हैं। मुश्किल समय में यह उम्मीद थी, अनिश्चितता के समय की उम्मीद थी। अमेरिकी राष्ट्रपति के पद से विदा होने के बाद रस्मी तौर पर उनको एयरफोर्स में बैठाया जाता है। एंड्रयू एयर फोर्स बेस पर करीब 1,8000 लोग ओबामा का इंतजार कर रहे थे जिनमें से कई ऐसे लोग थे जिन्होंने ओबामा प्रशासन में काम किया। ओबामा यूएस कैपिटोल से सैन्य हेलीकॉप्टर के जरिए वहां पहुंचे। राष्ट्रपति के तौर पर अपने सफर के शुरूआती दिनों को याद करते हुए ओबामा ने कहा कि उन्होंने अमेरिकी जनता और उनकी योग्यता में विश्वास प्रकट करते हुए यह सब किया, हमने साथ मिलकर काम करने की अपनी योग्यता का इस्तेमाल किया और देश को इस तरह से बदला जिससे हमारे बच्चों और हमारे पौत्र-पौत्रियों-नाती-नातिनों के जीवन को बेहतर बनाया जा सके। ओबामा ने कहा कि बदलाव उपर से नीचें नहीं, बल्कि नीचे से ऊपर होता है। उन्होंने कहा, आप सब मिलकर साथ आए और आपने विश्वास करने का निर्णय लिया। आपने दरवाजों पर दस्तक दी, फोन किए, अपने माता-पिता से बात की जो यह भी नहीं जानते थे कि बराक ओबामा नाम का उच्चारण कैसे करना है।

हम दुनिया से इस्लामिक टेररिज्म खत्म कर देंगे

वॉशिंगटन। 70 साल के डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार रात यूएस के 45वें प्रेसिडेंट के तौर पर शपथ ली। चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स ने उन्हें शपथ दिलाई। अब्राहम लिंकन और मां से मिली बाइबल पर हाथ रखकर शपथ लेने के बाद ट्रम्प ने स्पीच दी। इसमें उन्होंने दो बातें साफ कर दीं। पहली- अमेरिकियों को जॉब्स के मौके मिलेंगे। उनका काम उनसे कोई नहीं छीनेगा। 20 मिनट की स्पीच में उन्होंने चार बार जॉब्स शब्द का इस्तेमाल किया। दूसरी-अमेरिका की बॉर्डर्स महफूज की जाएंगी। दुनिया से हम इस्लामिक टेररिज्म का निशान मिटा देंगे। ट्रम्प ने बॉर्डर्स शब्द का इस्तेमाल भी चार बार किया। बता दें कि ट्रम्प यूएस हिस्ट्री के सबसे उम्रदराज प्रेसिडेंट हैं। इसके अलावा, 60 साल में प्रेसिडेंट बनने वाले दूसरे गैर-सियासी शख्स हैं।

पहली बार नए प्रेसिडेंट का विरोध
– यूएस में नए प्रेसिडेंट का इतने बड़े पैमाने पर विरोध पहली बार देखा गया।
– ट्रम्प की सेरेमनी में डेमोक्रेटिक पार्टी के 60 सांसद शामिल नहीं हुए।
– ऐसा पहली बार हुआ जब अपोजिशन ने प्रेसिडेंट की ओथ सेरेमनी का बायकॉट का एलान किया।
– वहीं, शनिवार को ट्रम्प के विरोध में जुलूस निकलेगा। इसमें ढाई लाख लोग शामिल हो सकते हैं।

सेरेमनी पर 1400 करोड़ रुपए हुए खर्च
– ट्रम्प का शपथ ग्रहण समारोह अमेरिकी इतिहास का सबसे महंगा शपथ ग्रहण समारोह रहा। इस पर करीब 1400 करोड़ रुपए खर्च हुए। इसमें चंदे से जुटाई गई राशि और सुरक्षा पर खर्च की गई राशि भी शामिल है।
– इससे पहले 2009 में हुए शपथ ग्रहण समारोह में 1100 करोड़ रुपए खर्च हुए थे। उस वक्त 18 लाख लोग आए थे जबकि ट्रम्प के समारोह में करीब 8 लाख लोग ही पहुंचे।

लिंकन की बाइबिल
– ट्रम्प ने उसी बाइबिल पर हाथ रखकर शपथ ली जिससे अब्राहम लिंकन ने शपथ ली थी।

35 शब्दों की शपथ
– प्रेसिडेंट पद की शपथ 35 शब्दों में ली जाती है।

पत्नी के साथ किया बॉल डांस


अमेरिका के 45वां प्रेसिडेंट बनने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने वाइफ मेलानिया के साथ पहला बॉल डांस किया। शपथ ग्रहण के कुछ घंटों बाद ही शुक्रवार रात 3 आॅफिशियल इनॉगरल बॉल्स प्रोग्राम हुए। ट्रम्प कपल ने इनमें से 2 में हिस्सा लिया। इस दौरान ट्रम्प और मेलानिया ने मशहूर सिंगर फ्रैंक सिनात्रा के गाने ‘माई वे’ पर डांस किया।
सवाल के बहाने मीडिया पर साधा निशाना
– फर्स्ट बॉल डांस से पहले ट्रम्प ने कहा, आखिरकार हमने कर दिखाया, हमने यह जर्नी अभी शुरू की है, मेरे पास मौका नहीं था, लेकिन मुझे मालुम था कि मैं जीतूंगा। आज हमारे लिए एक महान दिन है।
– सेकंड बॉल से पहले ट्रम्प ने अपने ट्विटर अकाउंट को लेकर मेहमानों से सवाल किया। कहा, मुझे ट्वीट करना जारी रखना चाहिए या नहीं?

पर्सनल ट्विटर हैंडल पर 1.40 करोड़ फॉलोअर्स
– ट्रम्प ट्वीट करने के शौकीन हैं। शपथ लेने के बाद 12 घंटे से भी कम समय में उनके पर्सनल ट्विटर हैंडल पर फॉलोअर्स की संख्या 14 मिलियन (1.40 करोड़) पहुंच गई।
– ट्रम्प ने मार्च 2009 में इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट को ज्वाइन किया था।

अखिलेश की अगुवाई में गंठबंधन पर संकट के बादल

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी व कांग्रेस का घोषित गठजोड़ आकार लेने से पहले ही टूट सकता है। ऐसे में दोनों दल अकेले चुनाव मैदान में जा सकते हैं। मालूम हो कि परसों ही रालोद को गंठबंधन से अलग रखने का एलान करते हुए सपा उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने महागंठबंधन की अवधारणा पर विराम लगा दिया था। फिलहाल, कांग्रेस व समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेता अपने-अपने दूतों के माध्यम से इसके लिए वार्ता कर रहे हैं। अब सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस अपनी मुंहमांगी सीटें नहीं मिलने पर गंठबंधन से ना कर सकती है। संभावना यह भी है कि किसी अंतिम नतीजे पर पहुंचने से पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर हाईकमान के संदेश के साथ समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से एक बार मिल सकते हैं।पहले सवा से अधिक सीटों की मांग पर अड़ी कांग्रेस ने अब 110 सीटें समाजवादी पार्टी से मांगी है, जबकि सत्ताधारी समाजवादी पार्टी हर हाल में 403 सदस्यीय विधानसभा की 300 सीटों पर लड़ने के फैसले पर अड़ी है। इस सपाट फामूर्ले से भी सपा अधिकतम 103 सीट ही कांग्रेस को दे सकती है, हालांकि अब वह उसे 99 सीट देने को राजी हो गयी है। इससे पहले कांग्रेस को सपा ने 87 से 89 सीटों की पेशकश की थी। उधर, खबर लिखे जाने के समय शाम में दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक चल रही है, जिसमें राज्य के प्रतिनिधि के तौर पर उत्तरप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर भी मौजूद रहे।

बौद्ध करमापा और विदेशी पर्यटक बने रिकॉर्ड का हिस्सा

पटना। बिहार में शराबबंदी के समर्थन में शनिवार को आयोजित मानव श्रृंखला ने अस्सी के दशक में बॉलीवुड ने वर्ष 1978 में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन अभिनीत कसमें वादे नाम से एक फिल्म के ‘मिले जो कड़ी-कड़ी इक जंजीर बने, प्यार के रंग भरो जिंदा तस्वीर बने’ गीत को पूरी तरह से चरितार्थ कर दिया। इस शराबबंदी के समर्थन में आयोजित मानव श्रृंखला में बिहार के विभिन्न जिलों के शहरों और कस्बों के लोगों ने नशाखोरी के खिलाफ हाथ से हाथ जोड़कर अपने जोश-ओ-खरोश के साथ अपना उत्साह दिखाया, उसे देखकर बरबस ही मुंह से बरबस ही मुंह से ‘रहे जो खड़े सभी एक रिकॉर्ड बना, होश में जोश दिखा नशा काफूर हुआ’ निकल पड़ता है। शराबबंदी के समर्थन में बिहार के गया जिले में 391 किलोमीटर की मानव श्रृंखला में लोगों ने उत्साह के साथ अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। गया शहर में जिला मुख्यालय के पास, काशी नाथ मोड़ और गांधी मैदान के पास सबसे ज्यादा भीड़ देखने को मिली। कलेक्ट्रेट के पास पटना से आये कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया। वहीं, बोधगया में विदेशी पर्यटकों और बौद्ध करमापा में भी जबरदस्त का उत्साह देखने को मिला। विदेशी पर्यटकों ने शराबबंदी के समर्थन में सड़क पर उतर कर मानव श्रृंखला बनायी। बौद्ध धर्मगुरू 17वें करमापा उगेन त्रिनले दोरजे के नेतृत्व में बौद्ध लामाओं ने मानव श्रृंखला बनायी।

भाजपा में सहयोगी दलों से तालमेल को ले उलझन

लखनऊ। उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा सहयोगी दलों को लेकर उलझन में है। लिहाजा वह दूसरी सूची जारी नहीं कर पा रही है। भाजपा ने पहली सूची में 149 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद उसे गुरुवार को दूसरी सूची जारी करनी थी। सूत्रों के मुताबिक दूसरी सूची में 150 उम्मीदवारों के नाम हैं, लेकिन सहयोगी दलों के साथ सीटों के बंटवारे को लेकर ऐसा नहीं किया जा सका। भाजपा राज्य विधानसभा में जिन छोटे दलों से गंठबंधन चाहती है, उनमें अपना दल, सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी और स्वाभिमान पार्टी प्रमुख है। अपना दल से भाजपा का पुराना गंठबंधन है और वह एनडीए का घटक दल है। इस दल की प्रमुख अनुप्रिया पटेल केंद्र में मंत्री हैं। इस दल के लोकसभा में दो सदस्य हैं। अनुप्रिया अपनी पार्टी के लिए 2014 के लोकसभा चुनाव में मिले वोट शेयर के आधार पर इस बार के विधानसभा चुनाव में सीट चाहती हैं। भारतीय समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर का पूर्वी उत्तरप्रदेश के 7-8 जिलों में बड़ा प्रभाव है। वह कुर्मी समाज से आते हैं और वाराणसी-प्रतापगढ़ परिक्षेत्र के 5-6 जिलों में इस जाति के वोटरों की संख्या अच्छी-खासी है। उधर स्वाभिमान पार्टी के आरके चौधरी भी बसपा छोड़ कर भाजपा के निकट आ गये हैं। उन्होने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ चुनावी सभा भी की है। वह पासी जाति से हैं और लखनऊ, सीतापुर, उन्नाव एवं रायबरेली जैसे एक दर्जन जिलों में इस जाति का एक तरह बड़ा वोट बैंक है। चौधरी का इन जिलों में बड़ा प्रभाव है। भारतीय समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर और अपना दल की अनुप्रिया पटेल इस चुनाव में अपने-अपने दल के लिए 30-30 सीटों की मांग कर रहे हैं, जबकि भाजपा उन्हें पांच से कम सीटें देना चाहती है। स्वाभिमान पार्टी के आरके चौधरी भी छह सीटें मांग रहे हैं, जबकि भाजपा महज दो सीटें देने के पक्ष में है।

मुलायम के करीबी अंबिका चौधरी बसपा में शामिल

लखनऊ। मुलायम के करीबी और विश्वासपात्र रहे सपा नेता अंबिका चौधरी शनिवार मायावती की उपस्थिति में बसपा में शामिल हो गये। उन्होंने कहा कि मैंने सपा के सारे पद छोड़ दिये हैं और आज से बसपा के लिए पूरी तरह समर्पित हूं। इस मौके पर मायावती ने कहा कि अंबिका चौधरी को सपा से ज्यादा सम्मान बसपा में मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे बलिया से ही बसपा की टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। मायावती ने कहा कि सपा के कई नेता उनके संपर्क में हैं। मौके पर अंबिका चौधरी ने कहा कि बहन जी ने उनपर कृपा की है। वे पिछले 25 सालों से पार्टी से जुड़े रहे हैं। अखिलेश ने मुलायम सिंह के साथ दुर्व्यवहार किया है। वहीं मायावती ने समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर चल रहे ‘गतिरोध’ के बीच कांग्रेस को सलाह दी कि वह सपा के साथ मिलने की बजाय अकेले दम पर या छोटे धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ गठजोड़ कर चुनाव लड़े। मायावती ने यहां संवाददाताओं से कहा, कांग्रेस के लोगों से प्रदेश में उनकी पार्टी के हित में कहना चाहूंगी कि यदि वास्तव में वे खुद को धर्म निरपेक्ष मानकर चलते हैं तो …. सपा से गठबंधन कर ये चुनाव ना लड़ें बल्कि अपनी पार्टी का भविष्य ध्यान में रखकर या तो अकेले लडें या फिर उन्हें छोटी- छोटी धर्म निरपेक्ष पार्टियों के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि जंगलराज वाली, अराजक, आपराधिक एवं सांप्रदायिक तत्वों को संरक्षण देने वाली और भाजपा से मिलीभगत करने वाली सपा जैसी पार्टी के साथ मिलकर कांग्रेस को चुनाव नहीं लडना चाहिए।

आरक्षण खत्म करने की ‘बंदर घुड़की’ देना बंद करें
दलित वोट बैंक के सहारे चुनावी संभावनाएं तलाशने वाली और आरक्षण की पुरजोर वकालत करने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर आरोप लगाया कि वे दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछडे वर्ग के लोगों का आरक्षण खत्म करना चाहते हैं। मायावती ने संघ और भाजपा को चेताया और कहा, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों को इन वर्गों के आरक्षण को खत्म करने की बार-बार बंदर घुड़की देने की बात बंद करनी चाहिए। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, देश को विशेषकर दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों के मसीहा बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के प्रति ‘मुंह में राम बगल में छुरी’ की तरह बर्ताव करने वाले भाजपा और उनके नीति निर्धारक आरएसएस तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इन वर्गों के मामले में जातिवादी मानसिकता का पदार्फाश करते हुए कहना चाहती हूं कि इन वर्गों के लोगों को अंबेडकर के अथक प्रयासों से संविधान में आरक्षण और जो अन्य कानूनी अधिकार मिले, वो उनका संवैधानिक अधिकार है।

पाकिस्तान ने भारतीय सैनिक चंदू चव्हाण को छोड़ा

नई दिल्ली। पिछले एक साल से तल्ख चल रहे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में अचानक ही उम्मीद की एक नई किरण सी दिखाई देने लगी है। पाकिस्तान ने रास्ता भटककर अपनी सीमा में घुस आए भारतीय सैनिक चंदू बाबूलाल चव्हाण को छोड़ दिया है।चव्हाण को 29 सितंबर, 2016 को हुई सर्जिकल स्ट्राइक के अगले दिन ही पाकिस्तानी सीमा के भीतर पकड़ा गया था। तब पाकिस्तान के कई अखबारों ने लिखा था कि वह सर्जिकल स्ट्राइक की कोशिश कर रहे भारत की विशेष फोर्स टीम के सदस्य हैं, जिन्हें पकड़ा गया है। बहरहाल, कूटनीतिक हलकों में इस बात की चर्चा शुरू हो गई है कि पर्दे के पीछे भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों को सामान्य करने की ट्रैक टू पॉलिसी चल रही है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी सूचना में बताया गया कि 21 जनवरी, 2016 को दोपहर ढाई बजे वाघा बार्डर पर चंदू बाबूलाल चव्हाण को भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया गया। इसमें बताया गया है कि चव्हाण कुछ मांगों को लेकर अपने अधिकारियों से नाराज थे और इस वजह से वह नियंत्रण रेखा पार कर गए थे। पाकिस्तान मानता है कि इस सैनिक को अपने देश लौटकर एक भारतीय नागरिक के तौर पर अपनी मांग रखनी चाहिए। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कहा है, “भारतीय सैनिक को मानवीय आधार पर छोड़ा गया है। पाकिस्तान नियंत्रण रेखा और सीमा पर शांति बनाए रखने का पक्षधर है। भारत के बेहद आक्रामक तेवर के बावजूद पाकिस्तान क्षेत्रीय शांति को नुकसान पहुंचाने वाले हर कदम का विरोध करता है।”

मोदी ही होंगे UP में भाजपा के सबसे बड़े प्रचारक

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के चुनावी महासंग्राम के लिए भाजपा ने अपने 40 स्टार प्रचारकों की सूची चुनाव आयोग को सौंप दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जाहिर तौर पर भाजपा के नंबर वन स्टार प्रचारक होंगे।पीएम के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से लेकर तमाम केंद्रीय मंत्रियों के नाम इस सूची में शामिल हैं।उत्तर प्रदेश के प्रमुख चेहरों में शुमार केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, मुख्तार अब्बास नकवी और योगी आदित्यनाथ भी स्टार प्रचारक बनाए गए हैं। हालांकि, स्टार प्रचारकों की इस सूची में पार्टी के दो दिग्गज लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के साथ सांसद वरुण गांधी और विनय कटियार का नाम नहीं है। हालांकि, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी का नाम सूची में है। वहीं लोजपा नेता और केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान को भाजपा के स्टार प्रचारकों में शामिल किया गया है। भाजपा ने चुनाव आयोग को स्टार प्रचारकों की यह सूची पहले और दूसरे चरण की वोटिंग के लिए भेजी है। साफ है कि नेताओं के प्रभाव को देखते हुए स्टार प्रचारकों की यह सूची बनाई गई है। आगे के चरणों के लिए स्टार प्रचारकों की सूची में काट-छांट भी होगी। उत्तर प्रदेश में प्रचार के लिए भाजपा ने अपने दो मुख्यमंत्रियों को भी उतारने का फैसला किया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इस सूची में हैं। पार्टी ने दूसरे दल से आए नेताओं को भी इसमें जगह दी है। इसमें प्रमुख चेहरा स्वामी प्रसाद मौर्य का है।