‘श्याम वाटिका’ से मुश्किल में पड़े ‘मोहन’

‘श्याम वाटिका’ से मुश्किल में पड़े ‘मोहन’

—-मंत्री बृजमोहन की पत्नी और बेटे ने फॉरेस्ट लैंड खरीदकर बनाया रिसॉर्ट —मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मुख्य सचिव से मांगी रिपोर्ट रायपुर। पत्नी और बेटे के नाम पर बने आलीशान रिसॉर्ट ‘श्याम वाटिका’ ने प्रदेश के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को मुश्किल में डाल दिया है।

पथनाट्य से दिया ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का संदेश

पथनाट्य से दिया ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का संदेश

मुंबई। भारत में जेंडरगैप को संतुलित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के प्रति जनजागृति के लिए मलाड पश्चिम मुंबई के इंफिनिटी मॉल में आयोजित पथनाट्य कार्यक्रम संपन्न हुआ। इसमें समाज में लड़कियों के शिक्षा के प्रति लोगों को जागृत करने का प्रयास

क्षत्रिय महासभा ने लिया समाज के विकास का संकल्प

क्षत्रिय महासभा ने लिया समाज के विकास का संकल्प

रायपुर। सर्व क्षत्रीय महासभा छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में शनिवार को प्रदेश स्तरीय बैठक का आयोजन सिविल लाइन स्थित वृंदावन हॉल में किया गया। बैठक की शुरूआत श्रीरामचंद्र जी की पूजा अर्चना एवं महाराणा प्रताप को माल्यार्पण के साथ किया गया। इस दौरान सर्व क्षत्रिय महासभा छत्तीसगढ़ प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह बैस

मारपीट के बाद IFS ने क्लर्क से मांगी माफी

मारपीट के बाद IFS ने क्लर्क से मांगी माफी

रायपुर। मंत्री के बाद अब एक आईएफएस अफसर पर क्लर्क से मारपीट करने का आरोप लगा है। मौके की नजाकत भांपते हुए आईएफएस अफसर ने अपने किये पर सार्वजनिक रुप से माफी मांगकर मामले का शांत करा दिया। घटना धमतरी जिले से संबंधित है। मिली जानकारी के अुनसार धमतरी के

पहली ही बारिश में बह गया साढ़े तीन करोड़ का पुल, कार्रवाई नहीं

पहली ही बारिश में बह गया साढ़े तीन करोड़ का पुल, कार्रवाई नहीं

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अफसरों और ठेकेदारों की सांठगांठ से भ्रष्टाचार कैसे फलफूल रहा है। शायद इस ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी टीम की नजर नहीं है। यहां ठेकेदार सुनील रामदास और अफसरों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार का एक और मामला सामने आया है। यह प्रकरण धर्मजयगढ़ विकासखंड़ के तहत

मंत्री केदार ने अफसर को मारने उठाया जूता…

मंत्री केदार ने अफसर को मारने उठाया जूता…

रायपुर। प्रदेश सरकार के स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप एक बार फिर विवादों में आ गये हैं। शुक्रवार को कोण्डागांव के रेस्ट हाउस में उन्होंने उद्योग महाप्रबंधक एसआर एल्मा को मारने के लिए जूता तक उतार लिया। इस घटना से अपमानित उद्योग महाप्रबंधक ने कलेक्टर समीर विश्नोई को पूरे वाकिये

…और आसान हुआ माँ बम्लेश्वरी के दर पर पहुंचना

…और आसान हुआ माँ बम्लेश्वरी के दर पर पहुंचना

राजनांदगांव। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव के ममता नगर-मोतीपुर को जोड़ने वाले रेल्वे अंडर ब्रिज का लोकार्पण किया। इस अण्डर ब्रिज का निर्माण लगभग 13 करोड़ 99 लाख रूपए की लागत से किया गया है। इस रेल्वे अंडर ब्रिज के माध्यम से मोतीपुर-बजरंगपुर-नवागांव सड़क सीधे जुड़

भूपेश ने सरकारी स्कूल की 30 एकड़ जमीन पर किया कब्जा

भूपेश ने सरकारी स्कूल की 30 एकड़ जमीन पर किया कब्जा

रायपुर। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया जहां छत्तीसगढ़ प्रवास पर रहकर संगठन को मजबूत करने के लिए मंथन कर रहे हैं वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे लगातार कांग्रेस पर हमलावार है। शुक्रवार को एक बार फिर जनता कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पर सरकारी जमीन

कृषि मंत्री  ने गरीब विद्यार्थियों को सौंपे आर्थिक सहायता राशि के चेक

कृषि मंत्री  ने गरीब विद्यार्थियों को सौंपे आर्थिक सहायता राशि के चेक

रायपुर।  कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज यहां शंकर नगर स्थित अपने निवास पर आयोजित कार्यक्रम में समाज सेवी संस्था रोटरी कास्मो रायपुर की ओर से जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को शिक्षा के लिए सहायता राशि के चेक वितरित किए। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस मजबूत, 2018 में बनाएंगे सरकार

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस मजबूत, 2018 में बनाएंगे सरकार

रायपुर। कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया इन दिनो छत्तीसगढ़ के तीन दिवसीय प्रवास पर हैं। उनके साथ सह प्रभारी के रुप में अरुण उरांव और कमलेश्वर पटेल भी है। श्री पुनिया अपने प्रवास के दौरान कार्यकर्ताओं को उत्साहित कर रहे हैं। गुरुवार को उन्होंने प्रेस कांफ्रेस में साफ

‘श्याम वाटिका’ से मुश्किल में पड़े ‘मोहन’

—-मंत्री बृजमोहन की पत्नी और बेटे ने फॉरेस्ट लैंड खरीदकर बनाया रिसॉर्ट
—मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मुख्य सचिव से मांगी रिपोर्ट
रायपुर। पत्नी और बेटे के नाम पर बने आलीशान रिसॉर्ट ‘श्याम वाटिका’ ने प्रदेश के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को मुश्किल में डाल दिया है। आरोप है कि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने पत्नी के नाम पर फारेस्ट विभाग की 4 हेक्टेयर जमीन की फर्जी तरीके से रजिस्ट्री करायी। यह वो जमीन है जिसे सरकार ने योजनाओं के नाम पर किसानों से अधिगृहित किया था। ‘श्याम वाटिका’ नाम का ये रिसॉर्ट महासमुंद जिले के सिरपुर में तैयार हुआ है। जानकारी के मुताबिक मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के जमीन फर्जी रजिस्ट्री का विवाद उनके पिछले कार्यकाल से जुड़ा है जब वो स्कूल शिक्षा मंत्री थे। इस मामले में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जांच रिपोर्ट मांगी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसकी जानकारी मैंने चीफ सिकरेट्री से मांगी है। ये पूरी जानकारी मेरे पास आयी है। इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक सिरपुर में जिस जगह पर 4 हेक्टेयर जमीन को लिया गया। उस जमीन को आदित्य सृजन प्राइवेट लिमिटेड और पुरबाषा वाणिज्य प्राइवेट लिमिटेड ने एक ही काम के लिए अधिगृहत किया था। इन दोनों कंपनियों में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की पत्नी सरिता अग्रवाल और उनके बेटे अभिषेक अग्रवाल डायरेक्टर रहे। जिस भूखंड पर रिसॉर्ट बनाया गया है उस जमीन को साल 1994 में वाटर रिसोर्स डिपार्टमेंट ने सिरपुर के झलकी गांव में पांच किसानों से अधिगृहित किया था। इस जमीन पर छोटे सिंचाई प्रोजेक्ट तैयार होने थे। इसमें 23 लाख की लागत से बनी परियोजना के बाद केंद्रीय वन एवं प्रर्यावरण मंत्रालय ने साल 2003 में लैंड ट्रांसफर का फाइनल क्लीयरेंस दे दिया। लेकिन इसी बीच तीन खसरा नंबर से करीब 4.12 हेक्टेयर जमीन को बृजमोहन अग्रवाल की पत्नी सरिता अग्रवाल ने 5 लाख 30 हजार 600 रुपये में खरीद लिया। 2013 के चुनाव एफिडेविट में इस जमीन का जिक्र बृजमोहन अग्रवाल ने अपनी पत्नी की रजिस्टर्ड जमीन के रूप में भी किया है। जबकि ये जमीन फारेस्ट की है और बिना कैबिनेट के एप्रुवल के इस लैंड का इस तरह से नामांतरण किया ही नहीं जा सकता है।

कहां-कहां हुई शिकायत
इस मामले में पहली शिकायत मार्च 2015 में किसान नेता ललित चंद्रानाहू ने की थी। उन्होंने तत्कालीन कलेक्टर उमेश अग्रवाल को पत्र लिखकर इस मामले की शिकायत की थी। कलेक्टर को हुई शिकायत में बताया गया था कि किसानों की अधिगृहित जमीन सरकार के राजस्व रिकार्ड में दर्ज नहीं है। साल 2016 में एक और शिकायत किसान नेता ललित ने इसी मामले में की। इस शिकायत के बाद कमिश्नर बृजेश मिश्रा ने फारेस्ट और जलसंसाधन विभाग को जमीन मामले में पूरा रिकार्ड उपलब्ध कराने को कहा। पिछले साल दिसंबर में इस मामले की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय को भी की गयी। जिसमें गलत तरीके से जमीन की रजिस्ट्री कराने का जिक्र तो किया ही गया साथ ही ये बताया गया कि बिना कैबिनेट के एप्रुवल के किस तरह से सरकारी जमीन का स्वरूप बदल दिया गया।

पथनाट्य से दिया ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का संदेश

मुंबई। भारत में जेंडरगैप को संतुलित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के प्रति जनजागृति के लिए मलाड पश्चिम मुंबई के इंफिनिटी मॉल में आयोजित पथनाट्य कार्यक्रम संपन्न हुआ। इसमें समाज में लड़कियों के शिक्षा के प्रति लोगों को जागृत करने का प्रयास किया गया। भारत सरकार की योजना के प्रति सामाजिक जनजागृति का यह कार्यक्रम ‘चाइल्ड हेल्प फाउंडेशन’ और ‘रागरागिनी’ कला केंद्र, मीरा रोड द्वारा किया गया। भारत सरकार द्वारा उठाये इस कदम के साथ ‘चाइल्ड हेल्प फाउंडेशन’ के प्रोजेक्ट मैनेजर कविता व फील्ड कॉर्डिनेटर मोहन घांघले और रागरागिनी फाउंडेशन की फाउंडर रागिनी मिश्रा ने एक साथ मिलकर एक नया आयाम दिया है। गौरतलब है कि इस पथनाट्य को तैयार करने में राग रागिनी कला संस्कृति ट्रस्ट के प्रतियोगी राधाअष्टमी किसला, साक्षी मिश्रा, सायली नार्वेरकर, स्वाति नार्वेरकर, आराधिता किट्टूर, रूहा खान, समीक्षा काबरा और रोली रोलस्टोन ने अहम योगदान दिया, जिसकी पटकथा और निर्देशन रागिनी ने खुद किया है। इसमें राधा अष्टमी और साक्षी मिश्रा के अभिनय ने लोगों के आंखो में आंसू ला दिया। इस आयोजन के दौरान दोनों संस्थाओं ने आगे भविष्य में एक साथ मिलकर और भी ऐसे सामाजिक जागरुकता का काम करने का संकल्प लिया।

क्षत्रिय महासभा ने लिया समाज के विकास का संकल्प

रायपुर। सर्व क्षत्रीय महासभा छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में शनिवार को प्रदेश स्तरीय बैठक का आयोजन सिविल लाइन स्थित वृंदावन हॉल में किया गया। बैठक की शुरूआत श्रीरामचंद्र जी की पूजा अर्चना एवं महाराणा प्रताप को माल्यार्पण के साथ किया गया। इस दौरान सर्व क्षत्रिय महासभा छत्तीसगढ़ प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह बैस ने स्वागत भाषण में महासभा का सक्षिप्त परिचय बताते हुए कहा कि हम समाज के लिए क्या कर सकते है और हम समाज को क्या दे रहे है, इसपर हमें विचार करना चाहिए। हम समाज की कसौटी में खरे नहीं उतर पाते है। जब समाज को कुछ देने की बात आती है तो हम राजनीतिक रोटियां सेकने लगते है, यह संगठन किसी नेता से नहीं चलेगा। हमें राजनीति से दूर समाज के विकास के लिए कार्य करना है। उन्होंने कहा कि कार्य करना हमारा कर्तव्य है, समाज के विकास में अपनी भागिदारी बढ़ाए और अपनी कमाई का मात्र 10 प्रतिशत ही समाज को दे ताकि आपका भी योगदान समाज के विकास में हो सकें। राकेश सिंह बैस ने बताया कि उत्तरप्रदेश के कुंडा विधायक रघूराज प्रताप सिंह (भैया) ने महासभा को संरक्षण प्रदान करने की सहमति प्रदान की है, जिसे महासभा स्वागत अभिनंदन करती है। इसके साथ ही बैठक में सर्व सम्मति से जय महाराणा जय राजपुताना को स्वजाति बंधुओं के मध्य एवं कार्यक्रमों के आरंभ एवं समापन संबोधन शब्द के रूप में अपनाया गया। इस दौरान बेमेतरा अध्यक्ष विकास सिंह, बिलासपुर ग्रामीण अध्यक्ष ब्रह्मदेव सिंह, रायपुर जिला अध्यक्ष सुशील सिंह गहरवार, रायपुर जिला महिला अध्यक्षा नीलम सिंह, मुंगेली से संजय सिंह के साथ ही पूरे प्रदेश के स्वजाति बंधु उपस्थित रहें। वरिष्ट सदस्य वासुदेव सिंह ने कहा कि आज सभी ठाकुर अपना अलग अलग संगठन बना रहे है, यदि सभी को एक संगठन बना ले तो एक ताकत आएगी। सभी लोगों के समस्याओं का समाधान करना होगा ताकि लोग संगठन से जुड़े रहे।
हर क्षेत्र में पहुंचेगी महासभा
क्षत्रिय स्वाभिमान यात्रा कार्यक्रम 1 नवंबर को आयोजित करने का निर्धारण किया गया है, यात्रा के दौरान महासभा के पदाधिकारी पूरे जिले में भ्रमण करते हुए गांव गांव में रहने वाले स्वजाति बंधूओं की समस्याओं को जानते हुए उन्हें दूर करने का प्रयास करेंगा। साथ ही इस दौरान महासभा की पहुंच हर क्षेत्र में बनाते हुए महासभा का विस्तार किया जाएगा। वही इसका समापन दंतेश्वरी मंदिर में करने का भी निर्णय लिया गया। राकेश सिंह ने इसके लिए कहा कि जो पंचायत स्तर के लोग हम तक नहीं पहुच सकते है उन तक हम पहुंच सकें और उनके समस्याओं का समाधान कर सकें, यही हमारा मुख्य उद्देश्य है।
हर जिले में बनेगा शक्ति केंद्र
राकेश सिंह बैस ने एजेंडा को बताते हुए कहा कि हर स्वजाति बंधू एक ईट का कलावा स्वयं लेकर उपस्थित हो ताकि हर जिले में शक्ति केंद्र की स्थापना की जा सकें। उन्होंने बताया कि दुबई में रहने वाले जयराज बैस द्वारा खैरागढ़ में महासभा को 25 एकड़ भूमि सामाजिक कार्य के लिए देने का प्रस्ताव किया है। वही दिल्ली की एक क्षत्रिय भाई ने अपने सॉफ्टवेयर कंपनी में छत्तीसगढ़ के 200 राजपूत बच्चों को रोजगार देने की बात कही है, जिसके लिए जल्द ही सेमिनार का आयोजन किया जाएगा। वही सभी पदाधिकारियों को इसके लिए जिम्मेदारी भी सौप दी गई है।
इनका हुआ सम्मान
बैठक के दौरान प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित महासचिव सुकांत सिंह राजपूत, सहसचिव प्रफुल्ल सिंह के साथ ही सौरभ सिंह परिहार, संजय ठाकुर, मोहित सिंह सेंगर, आरती सिंह, जितेंद्र दहिया को सम्मानित किया गया। इसके साथ ही समाज में विशेष योगदान के लिए आदेश सिंह, रामकुमार सिंह, सालिक सिंह ठाकुर, अर्जन सिंह, विनोद सिंह सेंगर, नीलम सिंह, गीता सिंह, गजेंद्र सिंह, सिकंदर सिंह ठाकुर बांगबहरा, डॉ.रत्ना ठाकुर, रेखा सेंगर, ममता सिंह, आशा सिंह, प्रमोद सिंह, अभिजीत सिंह, अंकुर सिंह, पवन सिंह, नीरज सिंह, हिरेंद्र क्षत्रिय, भुपेंद्र सिंह, अजय सिंह बागबहरा को सम्मसनित किया गया। .

मारपीट के बाद IFS ने क्लर्क से मांगी माफी

रायपुर। मंत्री के बाद अब एक आईएफएस अफसर पर क्लर्क से मारपीट करने का आरोप लगा है। मौके की नजाकत भांपते हुए आईएफएस अफसर ने अपने किये पर सार्वजनिक रुप से माफी मांगकर मामले का शांत करा दिया। घटना धमतरी जिले से संबंधित है। मिली जानकारी के अुनसार धमतरी के के सामान्य वन मंडल कार्यालय शनिवार की शाम ट्रेनी आईएफएस के रूप में पदस्थ मनीष कश्यप पर क्लर्क शैल कुमार यादव से गाली गलौज और मारपीट करने का आरोप लगाया गया। इस घटना के बाद वन मंडल के दफ्तर में हंगामा मच गया। वन विभाग के अन्य कर्मचारी भी एकजुट हो गये और दोषी अधिकारी पर कार्रवाई की की मांग करने लगे। बताया गया कि मनरेगा शाखा में पदस्थ आईएफएस अधिकारी ने एक फाइल मंगवायी जिसे लेकर क्लर्क शैलकुमार लेट लतीफी कर रहे थे। इससे गुस्साये अफसर ने चैबर से बाबू को बाहर निकाला और फिर उसके साथ गाली-गलौज और मारपीट की। घटना की जानकारी होने पर डीएफओ विवेक आचार्य भी मौके पर पहुंचे और दोनों को बुलाकर समझाने की कोशिश की। मामला गरमाता देख आईएफएस अफसर ने माफी मांग ली तब जाकर मामला शांत हो सका।

पहली ही बारिश में बह गया साढ़े तीन करोड़ का पुल, कार्रवाई नहीं

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अफसरों और ठेकेदारों की सांठगांठ से भ्रष्टाचार कैसे फलफूल रहा है। शायद इस ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी टीम की नजर नहीं है। यहां ठेकेदार सुनील रामदास और अफसरों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार का एक और मामला सामने आया है। यह प्रकरण धर्मजयगढ़ विकासखंड़ के तहत पोटिया गांव से संबंधित है। यहां पोटिया से बागडाही तक बना साढ़े तीन करोड़ की लागत से बना पुल पहली ही बारिश में ढह गया लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। जांच के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है। इसकी शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय में भी की गई। पीएमओ ने फौरी तौर पर कार्रवाई के लिए राज्य सरकार को निर्देश दिया फिर भी कार्रवाई नहीं हो रही है। जिस से पुल से ग्रामीणों की आवाजाही शुरू होने वाली थी, उस पुल के गिर जाने से अब बारिश के दिनों में ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पुल का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत कराया गया था। प्रकरण की जांच ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट में ठेकेदार सुनील रामदास और इंजीनियर की गलती सामने आई लेकिन कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति शुरू हो गई है।

ठेकेदार को बचाने में जुटे अफसर
बताया जा रहा है कि ठेकेदार सुनील रामदास की पहुंच विभाग के बड़े अफसरों तक है। यही वजह है कि विभागीय अफसर अब ठेकेदार को बचाने में जुट गए हैं। वहीं इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी में है। पीएमओ से शिकायत और फटकार के बाद भी राज्य सरकार ऐसे भ्रष्ट ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने से कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

मंत्री केदार ने अफसर को मारने उठाया जूता…

रायपुर। प्रदेश सरकार के स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप एक बार फिर विवादों में आ गये हैं। शुक्रवार को कोण्डागांव के रेस्ट हाउस में उन्होंने उद्योग महाप्रबंधक एसआर एल्मा को मारने के लिए जूता तक उतार लिया। इस घटना से अपमानित उद्योग महाप्रबंधक ने कलेक्टर समीर विश्नोई को पूरे वाकिये से अवगत कराया है। महाप्रबंधक का कहना है कि मंत्री ने मुझे रेस्ट हाउस बुलाया और मारने की धमकी दी। जूते भी निकाल लिया। बोले इसके आफिस में आग लगा दो। गौरतलब है कि शुक्रवार को मंत्री केदार कश्यप कोंडागांव के दौरे पर थे। इसी दौरान एक कार्यकर्ता ने इस बात की शिकायत किया कि जिला उद्योग महाप्रबंधक पैसे की मांग करते हैं। इस बात पर बिफरे मंत्री केदार कश्यप ने महाप्रबंधक को तलब किया। एल्मा का कहना है कि स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप ने उन्हें फोन कर रेस्ट बुलवाया और फिर वहां सभी कार्यकर्ताओं और अधिकारियों की मौजूदगी में उनकी बेइज्जती की। उधर मंत्री केदार कश्यप का कहना है कि कार्यकर्ताओं की शिकायत के बाद अफसर को फटकार लगाई थी। जो आरोप लगाये जा रहे हैं वह गलत है।

एल्मा ने यह लगाया आरोप
फोन कर मंत्री ने मुझे रेस्ट हाउस बुलवाया। मैं वहां गया और कक्ष में प्रवेश किया, सभी कार्यकर्ता वहां बैठे हुए थे। जैसे ही मैं पहुंचा, मंत्री गुस्से में बोले-आपने पांच हजार रुपया क्यों लिया, किस बात का पैसा लगता है। मैंने इनकार किया कि तो बोले, नहीं तुमने लिया है, फिर सामने वाले प्रूफ कराने लगे। जब वहां माहौल खराब होने लगा तो मैंने बोला कि उसने रिक्वेस्ट किया तो मैंने सीएएस के तौर पर लिया था, वापस कर दूंगा। इसी बीच वो मुझे मारने पर उतारू हो गये। मारने के लिए मंत्री ने पैर से जूते निकाल लिये और कार्यालय में आग लगा देने को कहा। कार्यकर्ताओं से कहा कि अगर तुम लोग नहीं लगाओगे तो मैं लगा दूंगा। मेरी सभी लोगों की मौजूदगी में बेइज्जती की। वहां कई सारे अधिकारी भी थे। मैं खुद समाज का सचिव हूं। इस मामले में समाज में चर्चा करूंगा। मैने निकलकर इस मामले में कलेक्टर साहब को जानकारी दी और सीनियर अधिकारी को भी बताया।

…और आसान हुआ माँ बम्लेश्वरी के दर पर पहुंचना

राजनांदगांव। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव के ममता नगर-मोतीपुर को जोड़ने वाले रेल्वे अंडर ब्रिज का लोकार्पण किया। इस अण्डर ब्रिज का निर्माण लगभग 13 करोड़ 99 लाख रूपए की लागत से किया गया है। इस रेल्वे अंडर ब्रिज के माध्यम से मोतीपुर-बजरंगपुर-नवागांव सड़क सीधे जुड़ गयी है। इस सड़क पर सीधे आवागमन की सुविधा और रेल्वे फाटक पर होने वाली दिक्कतों के समाधान के लिए शहरवासियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का आभार भी व्यक्त किया। इस अंडर ब्रिज के शुरू हो जाने से डोंगरगढ़ माँ बम्लेश्वरी एवं भवानी माता मंदिर ढारा-करेला जाने वाले पदयात्रियों को भी काफी सहूलियत होगी। साथ ही रेल पटरीपार के क्षेत्रों मोतीपुर, बजरंगपुर, नवागांव, बापूटोला, सुकुलदैहान, बरगाही, ढाबा की तरफ से शहर आने-जाने वाले सैकड़ों लोगों को आवागमन की निर्बाध सुविधा मिलेगी। लोकार्पण समारोह में लोकसभा सांसद अभिषेक सिंह, राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव, बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष खूबचंद पारख, छत्ताीसगढ़ राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष नीलू शर्मा, छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष अकरम कुरैशी, विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष सचिन बघेल, राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष रमेश पटेल, राज्य महिला आयोग के सदस्य डॉ. रेखा मेश्राम, नगर निगम के सभापति शिव वर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भरत वर्मा, राजगामी संपदा न्यास के पूर्व अध्यक्ष संतोष अग्रवाल सहित अनेक जन प्रतिनिधि, जिला प्रशासन, रेल्वे एवं सेतु निगम के अधिकारी और बड़ी संख्या में प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित थे।

भूपेश ने सरकारी स्कूल की 30 एकड़ जमीन पर किया कब्जा

रायपुर। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया जहां छत्तीसगढ़ प्रवास पर रहकर संगठन को मजबूत करने के लिए मंथन कर रहे हैं वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे लगातार कांग्रेस पर हमलावार है। शुक्रवार को एक बार फिर जनता कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पर सरकारी जमीन पर कब्जा जमाने का आरोप लगाया है। पूर्व मंत्री विधान मिश्रा ने पत्रकारों को साक्ष्य दिखाते हुए बताया कि जिस जमीन के फजीर्वाड़े का आरोप लगा है उसकी कीमत करीब 60 करोड़ रुपए है। विधान मिश्रा के मुताबिक 1985 से भूपेश बघेल ने इस जमीन को अवैध कब्जा रखा है। आरोप ये भी लगाया गया है कि चौरदा क्षेत्र में 1998 में पटवारी और तहसीलदार से मिलकर संशोधन पंजी में अपना नाम दर्ज कराया। पूर्व मंत्री के मुताबिक ऐसे मामले जब भी सामने आते हैं कैबिनेट की मंजूरी जरूरी होती है लेकिन कलेक्टर को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। जोगी कांग्रेस के मुताबिक 1998 में जब साडा भंग हुआ, नगर निगम भिलाई अस्तित्व में आया। नगर निगम कमिश्नर ने 1999 में स्कूल को अच्छे से चलाने के लिए प्रस्ताव बनाने के लिए कार्यपालन यंत्री को भेज था। उस समय परिवहन मंत्री भूपेश बघेल थे। नगर निगम कमिश्नर को भी नहीं मालूम था स्कूल की जमीन तो हमारे पास है ही नहीं उस पर तो भूपेश बघेल का कब्जा था। भूपेश बघेल पर दबाव देकर जमीन अपने नाम करवाने का सीधा लगा आरोप लगातार मंत्री पद पर उस समय रहे थे। भूपेश बघेल राजस्व मंत्री बनने के बाद भूपेश बघेल ने उसी जमीन को 2003 में अपनी पत्नी मुक्तेश्वरी बघेल के नाम कर दिया।

कृषि मंत्री  ने गरीब विद्यार्थियों को सौंपे आर्थिक सहायता राशि के चेक

रायपुर।  कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज यहां शंकर नगर स्थित अपने निवास पर आयोजित कार्यक्रम में समाज सेवी संस्था रोटरी कास्मो रायपुर की ओर से जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को शिक्षा के लिए सहायता राशि के चेक वितरित किए। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि पढ़ाई लिखाई के लिए उन्हें सहायता मिली है, जिसका सदुपयोग कर मंजिल पाने के रास्ते में आगे बढ़ें। कृषि मंत्री ने उन्हें एक लक्ष्य बनाकर पूरा ध्यान पढ़ाई-लिखाई में लगाने की समझाईश दी। रोटरी कास्मो के पदाधिकारियों ने बताया कि संस्था द्वारा हर साल रायपुर शहर के स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के शिक्षा के लिए आर्थिक सहयता दी जाती है। इसके लिए आवेदन मंगाए जाते हैं। इन आवेदनों में से चुने हुए छात्र-छात्राओं को सहायता दी जाती है। इस साल 35 विद्यार्थियों को लगभग पौने तीन लाख सहायता दी जा रही है। कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने आज के कार्यक्रम में 20 विद्यार्थियों को सहायता राशि के चेक प्रदान किए। श्री अग्रवाल ने इस मौके पर रोटरी कास्मो के समाज सेवा कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने ही रोटरी कास्मो के पदाधिकारियों को गरीब बच्चों को शिक्षा के लिए मदद देने का कार्य शुरू करने का सुझाव दिया था। रोटरी कास्मो द्वारा हर साल जरूरतमंद विद्यार्थियों को सहायता देने का अनुकरणीय कार्य किया जा रहा है। रोटरी कास्मो के समाज सेवा के कार्यों में शिक्षा को बढ़ावा देने का यह कार्य विशेष महत्व रखता है। कृषि मंत्री ने आज के कार्यक्रम में छात्र मदी शंकर, संजय वर्मा, दीप प्रकाश, कंचन यादव, भूमिका यादव, बिन्दू जोशी, मंयक अग्रवाल, प्रिया देवांगन, प्रहलाद धृतलहरे, गौकरण, चंचल देवांगन, कामानी देवांगन, रेणुका साहू, लोमश कुमार, नेहा भूषण, ओजश चौहान, राम्या कृष्णा, वंशिका हरपाल और निकिता यादव को चेक प्रदान किए।  इस अवसर पर रोटरी कास्मो के प्रेसीडेंट विवेक जग्गी, प्रोग्राम चेयरमेन आशीष नत्थानी,  कीर्ति व्यास,  रमेश राव,  नरेश पटेल सहित रोटरी कास्मो के अन्य सदस्य उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस मजबूत, 2018 में बनाएंगे सरकार

रायपुर। कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया इन दिनो छत्तीसगढ़ के तीन दिवसीय प्रवास पर हैं। उनके साथ सह प्रभारी के रुप में अरुण उरांव और कमलेश्वर पटेल भी है। श्री पुनिया अपने प्रवास के दौरान कार्यकर्ताओं को उत्साहित कर रहे हैं। गुरुवार को उन्होंने प्रेस कांफ्रेस में साफ किया कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस मजबूत स्थिति में है। कांग्रेस 2018 में यहां सरकार बनाएगी। उन्होंने पार्टी के मौजूद सांगठनिक ढांचे पर भी भरोसा जताया और कहा कि इसी टीम के नेतृत्व में पार्टी चुनाव जीतेगी। इससे पहले पीएल पुनिया ने कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं से भेंट की। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव, डॉ. चरणदास महंत, धनेंद्र साहू, सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष चैन सिंह सामले उपस्थित रहे।

समन्वय समिति की बैठक में बनाई रणनीति
गुरुवार को दिनभर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने पार्टी की समन्वय समिति और सभी फ्रंटल संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत बनाने और 2018 में विधानसभा चुनाव जीतने की रणनीति पर विमर्श किया। सूत्रों के मुताबिक समन्वय समिति की बैठक में श्री पुनिया ने पार्टी पदाधिकारियों को जनता से जुड़े मुद्दों को उठाने का टॉस्क दिया। साथ ही यह भी कहा कि पार्टी के छोटे से छोटे कार्यकर्ताओं को सम्मान दें और उनका उत्साहवर्धन करें। उन्होंने संगठन को बूथ स्तर पर मजबूत करने का मंत्र दिया। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी के नेता मुख्यालय छोड़कर गांवों में भी पहुंचे और वहां की समस्याओं को लेकर संघर्ष करें।
निर्माणाधीन प्रदेश कार्यालय भवन देखा
कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पी.एल. पुनिया ने गुरुवार को प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल के साथ निर्माणाधीन प्रदेश कांग्रेस कार्यालय देखने पहुंचे। उनके साथ वरिष्ठ नेता डॉ. चरण दास महंत, धनेंद्र साहू, प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल सहित वरिष्ठ नेतागण उपस्थित थे। श्री पुनिया ने कई अहम सुझाव भी दिए।