Daily Archives: April 16, 2017

राष्ट्रपति की दौड़ में आगे निकले मुरली मनोहर जोशी!

भुवनेश्वर। ओडिशा में बीजेपी कार्यकारिणी बैठक के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की डिनर टेबल चर्चा और अटकलों का केंद्र बन गई है। पीएम के साथ डिनर करने वालों में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, संगठन महासचिव रामलाल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे। लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा मुरली मनोहर जोशी को लेकर हो रही है जिन्हें पीएम के साथ डिनर के लिए टेबल पर आमंत्रित किया गया। इससे पहले पिछले साल जून में इलाहाबाद में हुई बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी पीएम मोदी और जोशी की गर्मजोशी देखने को मिली थी। तब दोनों ही नेता एक ही प्लेट से फ्रÞूट चाट खाते हुए नजर आए थे। गौरतलब है कि इस साल जुलाई में राष्ट्रपति के लिए चुनाव होना है। ऐसा माना जाता है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कई नामों के साथ जोशी के नाम पर भी विचार कर रहा है। जोशी को मोदी सरकार ने पद्म विभूषण सम्मान से भी नवाजा है।

बगैर दहेज के दोनों बेटों की शादी करेंगे लालू

पटना। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने रविवार को अपना 28वां जन्मदिन मनाया। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने इस मौके पर रविवार को कहा कि वो अपने दोनों बेटों का विवाह बगैर दहेज लिए करेंगे। एक समाचार चैनल से खास बातचीत में लालू यादव ने कहा, मैं पूरी तरह से दहेज प्रथा का विरोधी हूं और मैं अपने दोनों बेटों का विवाह भी बिना दहेज लिए करूंगा। लालू यादव का यह बयान इस मायने में भी खास माना जा रहा है कि दो दिनों पहले ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चंपारण सत्याग्रह के सौ साल पूरा होने पर दहेज मुक्त समाज बनाने का आह्वान किया था।

11 साल के लड़के ने 12वीं की परीक्षा पास की

हैदराबाद। विलक्षण प्रतिभा के धनी अगस्त्य जायसवाल ने 11 साल की उम्र में 12 वीं कक्षा की परीक्षा पास करने की विरल उपलब्धि हासिल की है। अगस्त्य के पिता अश्विनी कुमार ने कहा कि उसने 63 प्रतिशत अंक हासिल कर इंटरमीडिएट द्वितीय वर्ष की परीक्षा पास की। उन्होंने दावा किया कि उनका बेटा राज्य का पहला व्यक्ति है जिसने इतनी कम उम्र में यह परीक्षा पास की है। कुमार ने कहा कि अगस्त्य ने एसएससी की परीक्षा 2015 में नौ साल की आयु में पास की थी और उसके बाद तेलंगाना एसएससी बोर्ड से परीक्षा में बैठने के लिए अनुमति मांगी थी। कुमार ने कहा कि लेकिन इंटरमीडिएट की परीक्षा में बैठने के लिए इस तरह की किसी विशेष अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला का निधन

रोम। दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला और 19वीं सदी की आखिरी जीवित इंसान माने जाने वाली इटली की एम्मा मोरानो का 117 वर्ष की उम्र में रविवार को निधन हो गया। इतालवी मीडिया की खबरों के अनुसार मोरानो का जन्म 29 नवंबर 1899 को हुआ था। उनका उत्तरी इटली के वर्बानिया में उनके घर में निधन हो गया। वर्बानिया के मेयर के हवाले से कहा गया है, उनका एक असाधारण जीवन था और हम जीवन में आगे बढ़ने की शक्ति के लिए उन्हें हमेशा याद रखेंगे।

‘तीन तलाक’ से कष्ट में मुस्लिम बहनें

–पार्टी के नेताओं को बड़बोलेपन से बचने की सलाह दी
भुवनेश्वर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को रविवार को संबोधित किया। उन्होंने इस मंच से एक तरफ विपक्ष पर हमला किया तो दूसरी तरफ पार्टी के नेताओं को बड़बोलेपन से बचने की सलाह दी। इसके साथ ही उन्होंने ट्रिपल तलाक पर बोलते हुए मुस्लिम महिलाओं को भरोसा दिया कि सरकार और पार्टी उनके साथ है। मोदी ने कहा, तीन तलाक से मुस्लिम बहनें कष्ट में हैं। हमें इसका समाधान करना चाहिए। इसके लिए लिए जिला स्तर पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि न्यू इंडिया के फॉर्म्युले पर आगे बढ़ना चाहिए। मोदी ने पार्टी को सलाह दी कि ‘पिछड़े मुसलमानों’ पर एक कॉन्फ्रेंस बुलानी चाहिए। पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने पर चर्चा के दौरान पीएम ने कहा, मुसलमानों में कुछ वर्ग पिछड़े हुए हैं। उन्हें पिछड़े वर्गों पर होने वाली चर्चा में शामिल करना चाहिए।
अवॉर्ड वापसी वाले कहां?
पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधने के साथ उन कलाकारों और साहित्याकरों पर चुटकी ली, जिन्होंने देश में असहिष्णुता बढ़ने की बात कहकर अपने अवॉर्ड वापस कर दिए थे। पीएम ने कहा, विपक्ष हर चुनाव से पहले नए मुद्दे ईजाद करता है। बिहार चुनाव से पहले अवॉर्ड वापसी की गई। आजकल अवॉर्ड वापसी वाले कहां हैं? फिर दिल्ली चुनाव में चर्च पर हमले की बात उठाई गई। अब ईवीएम का मुद्दा उठाया जा रहा है। लगता है विपक्ष नए मुद्दे फैक्ट्री में बनाता है।
लिंगराज मंदिर में की पूजा
रविवार को ही पीएम भुवनेश्वर में लिंगराज मंदिर भी पहुंचे। यहां उन्होंने भगवान लिंगराज (शिव) का आशीर्वाद लिया। इस दौरान मंदिर में मोदी-मोदी के नारे लगे। मंदिर के एक पुजारी ने बताया कि मोदी मंदिर में करीब 25 मिनट रुके। उन्होंने भगवान लिंगराज समेत मंदिर में मौजूद देवी-देवताओं की फूल, दूध और बेलपत्र पूजा की। मोदी ने लिंगराज मंदिर परिसर का जायजा लिया। उन्होंने यहां मंदिर के इतिहास और परंपराओं की भी जानकारी ली।

शरिया कारणों के बिना तीन तलाक देने वालों का बहिष्कार होगा

–आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने किया ऐलान
नई दिल्ली। देश भर में तीन तलाक पर छिड़ी बहस के बीच आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने रविवार को ऐलान किया कि जो लोग शरिया कारणों के बिना तीन तलाक देंगे, उनका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। बोर्ड ने कहा कि तीन तलाक के कानून में बदलाव के बजाए इसका दुरुपयोग करने वाले व्यक्तियों के आचरण में सुधार की जरूरत है। साथ ही कहा कि उन्हें अपने मुल्क में मुस्लिम पर्सनल लॉ पर अमल करने का पूरा संवैधानिक अधिकार है।
गौरतलब है कि देश में मुस्लिम पर्सनल लॉ को लेकर व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने के लिये आल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने 11 अप्रैल को कहा था कि वह सोशल मीडिया का सहारा लेगा। आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि अगले डेढ़ साल में तीन तलाक को खत्म कर दिया जाएगा। इस मामले में उन्होंने सरकार को दखल न देने को कहा था।

11 मई से कोर्ट में होनी है सुनवाई
वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने 30 मार्च को एक बड़ा फैसला लेते हुए तीन तलाक और तलाक के बाद मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों के मामले सुनने के लिए संविधान पीठ का गठन किया था। पांच जजों की यह पीठ 11 मई से इस मामले की सुनवाई करेगी। पीठ में मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर भी हो सकते हैं। जून तक चलने वाले अवकाश काल में संभवत: तीन संविधान पीठें बैठेंगी, जो तीन तलाक के अलावा दो अन्य मुद्दों पर सुनवाई करेंगी।

आइआइटी में छात्राओं के लिए 20% अतिरिक्त सीटें

नई दिल्ली। देश के शीर्ष प्रौद्योगिकी संस्थान आइआइटी में छात्राओं की तादाद बढ़ाने के लिए कोटा व्यवस्था शुरू की जाएगी। इसे वर्ष 2018 के सत्र से लागू किया जाएगा। नई नीति के तहत छात्राओं के लिए देश भर के सभी आइआइटी में अतिरिक्त सीट की व्यवस्था की जाएगी।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है। दरअसल, आइआइटी में छात्राओं की गिरती संख्या से चिंतित संयुक्त दाखिला बोर्ड ने प्रोफेसर टिमोथी गोंजालवेज की अध्यक्षता में समिति गठित की थी। इसे संस्थान में छात्राओं की तादाद बढ़ाने के तौर-तरीकों को लेकर सुझाव देने को कहा गया था। समिति ने साल की शुरूआत में सभी आइआइटी में छात्राओं के लिए 20% अतिरिक्त सीटों की व्यवस्था करने की सिफारिश की थी। यह वृद्धि मौजूदा सीटों के अतिरिक्त होगी। शनिवार को जैब की बैठक में सिफारिश को मंजूर कर लिया गया। एचआरडी के अधिकारी ने बताया कि अतिरिक्त सीटों पर हर वर्ष फैसला किया जाएगा। इसे अधिकतम आठ वर्षो के लिए लागू किया जाएगा। कोटे के तहत खाली सीट को महिला अभ्यर्थी से ही भरा जाएगा।

‘ऐसी’ पियो कि ‘वो’ अपने आप छूट जाए

–हर छत्तीसगढ़वासी कथा का ‘यजमान’ पात्रता के लिए करे ‘हिमाद्रि स्नान’
रायपुर। इनडोर स्टेडियम में राष्ट्रीय संत मोरारी बापू ने राम कथा में दूसरे दिन ‘स्वस्थ और समृद्ध’ छत्तीसगढ़ के लिए नागरिकों का आह्वान किया। कथा प्रसंग के माध्यम से उन्होंने राज्य को शराब पीने, जुआ खेलने, शिकार करने और स्त्री-पुरुष के बीच अयोग्य संग को खत्म किए जाने का भी आह्वान किया। श्री बापू ने राम कथा की ‘थीम’ मानस अपराध के बारे में स्पष्ट करते हुए कहा कि गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित रामचरित मानस में 32 स्थानों पर अपराध शब्द का प्रयोग हुआ है। संयोग से वह 32 वर्ष बाद छत्तीसगढ़ में फिर राम कथा कहने आये हैं। इसलिए उन्होंने इस बार राम कथा की ‘थीम’ मानस अपराध रखा है। उन्होंने पाप और अपराध में अंतर को बताते हुए कहा कि पाप का होना सहज है और अपराध परिस्थितियों के अनुसार हो जाया करता है। उन्होंने कहा कि पाप या अपराध हो जाये तो कोई बात नहीं पर सतर्कता यह बरतनी है कि उसकी पुनरावृत्ति न हो इसकी पात्रता ग्रहण करनी है। उन्होंने कहा कि कथा का ‘यजमान’ बनने की अपनी पात्रता होती है। यजमान को ‘हिमाद्रि’ स्नान कराने का विधान है। ‘हिमाद्रि’ स्नान का अर्थ यह है कि सभी प्रकार के पाप कर्म और अपराधों से मुक्ति पाने की भगवान से याचना की जाए और किसी भी प्रकार के गलत कर्म के न करने का संकल्प ले।

बापू ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने अपराध के चार प्रकार बताए हैं। उनमें पहला अपराध शराब पीना होता है। दूसरा जुआ खेलना, तीसरा आखेट करना और चौथा स्त्री या पुरुष के बीच अयोग्य संग होना है। उन्होंने हर छत्तीसगढ़वासी का कथा का ‘यजमान’ बताया और इसकी पात्रता के लिए ‘अपराधों’ से मुक्त होने का संकल्प लेने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि राम कथा के अमृतमयी रस को ‘ऐसा’ पियो कि ‘वो’ अपने आप छूट जाये।

170 देशों में हो रहा कथा का प्रसारण
इनडोर स्टेडियम में चल रही संत मोरारी बापू की राम कथा का प्रसारण विभिन्न चैनलों के माध्यम से दुनिया के 170 देशो में किया जा रहा है। नौ दिवसीय राम कथा में बापू को सुनने के लिए भारी भीड़ उमड़ रही है।

दूसरों की निंदा से बचने का आह्वान
संत मोरारी बापू ने एक अन्य प्रसंग का जिक्र करते हुए अपराध की छह और श्रेणियों का वर्णन किया। उन्होंने किसी के साधन, साधना, मंत्र, सूत्र, शस्त्र और शास्त्र की निन्दा को भी अपराध बताया और इससे बचने का आह्वान किया।

115 सदस्यीय प्रदेश कार्यकारिणी गठित, राधा और नीना बनीं महासचिव

रायपुर। महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष फुलो देवी नेताम ने प्रदेश कार्यकारिणी का गठन कर दिया है। कार्यकारिणी में सभी वर्ग के लोगों का संतुलन साधा गया है। इसमें 26 उपाध्यक्ष, 32 महासचिव और 57 कार्यकर्ताओं को सचिव पद का दायित्व सौंपा गया है। प्रदेश महासचिव में राधा राजपाल और नीना युसूफ का नाम प्रमुखता से है। कार्यकारिणी इस प्रकार है। उपाध्यक्ष श्रीमती सियो पोटाई, आभा मरकाम, अरुणा शुक्ला, रेखा त्रिपाठी, उषा रंजन श्रीवास्तव, आशा चौहान, आरती श्रीवास्तव, वन्दना गुप्ता, प्रेम लता भोई, चन्द्रवती साहू, संगीता सक्सेना, रश्मि ताम्रकर, अलका जयसवाल, भोजकुमारी यदु , उषा पटेल, निर्मला यादव, सती साहू, आशा स्ािंह, मधु दीक्षित, माया रानी सिंह, मांडवी दीक्षित, संध्या देशपांडे, शेरोमणि माथुर, शैल श्रीवास्तव, बबिता सिंह, कांति नाग। प्रदेश महासचिव में नीता लोधी, अनीता कोसरिया, अनीता योगेन्द्र शर्मा, आशा अग्रवाल, कमला गुप्ता, कविता साहू, चन्द्रकला नेताम, चित्रलेखा वर्मा, डा. सुलोचना देवी मारकंडे, तान्या अनुरागी, नीना युसूफ, नीना रावतिया, नीलू नुमेश, प्रेम शिला नायक, बिंदा नेताम, बृजकुमारी उइके, राधा राजपाल, रेशमा विरदी, लक्ष्मी साहू, वायला सिंह, वेदवती पोयाम, शहनाज बेगम, शारदा वर्मा, शुभद्रा सलाम, सफीरा साहू, सीमा बघेल, सुलोचना वट्टी, सुषमा कश्यप, शोभा चाहिल, प्रभा सोनछत्रा, गीतांजली चन्द्राकर, छन्नी साहू शामिल हैं। प्रदेश सचिव पद पर मालती ठाकुर, बिंदु रानी प्रसाद, पुष्पा पाटले, इन्द्राणी पांडे, रुक्मणी खोपरागढ़े, विमला पाटिल, लक्ष्मी राव, रजिया बेगम, जगजीत कौर, वन्दना राजपूत, स्मिता सिंह, हर्षिता स्वामी बघेल, अपर्णा फ्रांसिस, डॉ. सरिता जोशी, शेख नसीमा, चन्द्रकला साहू, बिना पोद्दार, शीतल कुलदीप, शारदा सोनी, थानेश्वरी, रत्ना चन्द्राकर, अनिमा अधिकारी, सुशीला यादव, कनक दई नाग, अनीता सिन्हा, लता चन्द्राकर, मीनाक्षी ठाकुर, अनामिका यदु, शरिता परगनिया, शरिता शर्मा, प्रभा साहू, वेदवती पात्र, सरला पोद्दार, ईश्वरी पटवा, मंजू बेनर्जी, हाजरुल बानो, रैमती कश्यप, रुकमनी कर्मा, शारदा तिवारी, राजकुमारी सिन्हा, प्रज्ञा गुप्ता, चन्द्रकला देवांगन, किरण सिन्हा, शावित्री साहू, मालती मोर्य , नीलिमा रवि, महेश्वरी पांडे, संगीता सिंह, मनीषा कुलदीप, कल्पना सागर, रजनी जगतुराम, संगीता सोनवानी, निशा साहू, पूर्णिमा रजवाड़े, सत्यभामा परगनिया, मोतिन बाई, साधना सिंह को दायित्व सौंपा गया है।

बीजेपी अब ओबीसी कार्ड खेलने की तैयारी में

भुवनेश्वर। बीजेपी अब ओबीसी कार्ड खेलने की तैयारी में है। पार्टी न सिर्फ ओबीसी कमिशन को संवैधानिक दर्जा देने के फैसले का क्रेडिट लेने के लिए अभियान चलाएगी बल्कि वह इस मामले में कांग्रेस और उन विपक्षी दलों को विलेन की तरह पेश करेगी, जिन्होंने राज्यसभा में ओबीसी बिल का विरोध किया। बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी ने पिछड़ा वर्ग आयोग के मामले में एक प्रस्ताव पारित किया है। इस प्रस्ताव में जहां पिछड़ों के आयोग को सशक्त बनाने के लिए सरकार की प्रशंसा की गई है, वहीं उसे रोकने की कोशिश करने वाले विपक्षी दलों पर करमरारा हमला भी किया गया है। इसके अलावा एक अन्य प्रस्ताव पारित करके विधानसभा चुनाव में मिली जीत के लिए नरेंद्र मोदी सरकार के कामकाज को क्रेडिट दिया गया है और कहा गया है कि 2014 में लोगों ने उम्मीद के साथ बीजेपी को वोट दिया था और अब मोदी सरकार के विश्वास पर वोट दिया है।

नाम लिया, दिया नहीं
प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में कार्यकारिणी में पारित इस प्रस्ताव में कहा गया है कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने की 30 वर्ष पुरानी मांग है, लेकिन कांग्रेस की सरकारों ने कभी उस ओर ध्यान ही नहीं दिया क्योंकि कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति करती रही है। इस प्रस्ताव की जानकारी देते हुए बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि देश के 52 फीसदी लोग आर्थिक शैक्षणिक रूप से पिछड़े हैं लेकिन इस ओर कभी कांग्रेस ने फोकस ही नहीं किया। कांग्रेस ने मुसलमानों का नाम तो लिया, लेकिन दिया कुछ नहीं। गरीबों का नाम लिया लेकिन दिया कुछ नहीं। कांग्रेस ने सिर्फ वोट बैंक की राजनीति की, लेकिन पहली बार मोदी सरकार ने पिछड़ों के लिए बने आयोग को ताकत देते हुए उसे संवैधानिक दर्जा दिया। उन्होंने कहा कि पिछड़ों को न्याय देने के लिए यह मोदी सरकार का ऐतिहासिक फैसला था, लेकिन विपक्ष को यह भी हजम नहीं हुआ। लोकसभा में इस फैसले को सभी दलों ने समर्थन दिया, लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने इसे रोक दिया। बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस ने पहले सत्ता में रहते हुए और अब विपक्ष में रहते हुए पिछड़े वर्ग के लोगों के साथ न्याय नहीं होने दे रही है। इस प्रस्ताव को पार्टी के नेता हुकुम सिंह ने पेश किया जबकि शिवराज सिंह चौहान और धर्मेन्द्र प्रधान ने इसका समर्थन किया। इस प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बीजेपी की ओर से एक बार फिर कहा गया है कि पार्टी ने कहा है कि पिछड़ा कोई भी हो, उसका विकास करने पर ध्यान देगी।