Daily Archives: May 2, 2017

मैनपाट की पहाड़ी वादियों में लगी रमन की चौपाल

–स्कूली बच्चों, युवाओं और बुजुर्गो से डॉ. रमन ने किया आत्मीय संवाद
रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तहत बुधवार को हेलीकॉप्टर से अचानक सरगुजा जिले के मैनपाट विकासखंड की पहाड़ी वादियों में स्थित ग्राम पैगा पहुंचे। उन्होंने वहां साल वृक्षों की छांव में चौपाल लगाकर ग्रामीणों से बातचीत की। स्कूली बच्चों, युवाओं और बुजुर्गो से मुख्यमंत्री के सहज-सरल आत्मीय संवाद ने लोगों का दिल जीत लिया। डॉ. रमन सिंह ने ग्रामीणों की मांग पर पैगा से परपटिया होते नानदमाली तक 24 किलोमीटर सड़क निर्माण और उस पर मछली नदी में पुल निर्माण की स्वीकृति तुरन्त प्रदान कर दी। इस मार्ग के बन जाने पर पैगा से जिला मुख्यालय अम्बिकापुर की वर्तमान 75 किलोमीटर की दूरी घटकर 40 किलोमीटर रह जाएगी। मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत पैगा में सीमेंट कांक्रीट सड़क निर्माण के लिए आठ लाख रूपए तत्काल मंजूर करने की घोषणा की। उन्होंने अधिकारियों को पैगा के सेन्टरपारा में बिजली लाइन विस्तार के लिए खंभे जल्द लगवाने के निर्देश दिए।
बच्चों से पूछा पहाड़ा
चौपाल में मुख्यमंत्री ने पैगा मिडिल स्कूल के बच्चों से 17 और 18 का पहाड़ा पूछा। उन्होंने स्कूल के शिक्षकों को पढ़ाई की गुणवत्ता का विशेष रूप से ध्यान रखने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने ग्राम पंचायत पैगा की सरपंच श्रीमती देवरतिया और वहां के पंचों से कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अधिक से अधिक गरीब परिवारों को पक्का मकान दिलाने के लिए पंचायत के स्तर पर पहल की जाए।
तेन्दूपत्ता मजदूरों से मिले
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रायगढ़ जिले के ग्राम लिंजिर में अचानक पहुंचकर तेन्दूपत्ता मजदूरों से मुलाकात की और वहां चल रहे संग्रहण कार्य का निरीक्षण किया। डॉ. सिंह लिंजिर में आयोजित समाधान शिविर में भी शामिल हुए। शिविर स्थल से कुछ ही दूरी पर प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति का तेन्दूपत्ता संग्रहण केन्द्र स्थित है, जहां पहुंचकर मुख्यमंत्री ने संग्रहण कार्य में लगे ग्रामीणों से पत्तों की गुणवत्ता, उनके पारिश्रमिक आदि के बारे में बातचीत की।
स्कूल के उन्न्यन को स्वीकृति
मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों की मांग पर लिंजिर के हाईस्कूल का दर्जा बढ़ाकर अगले साल से उसे हायरसेकेण्डरी स्कूल के रूप में संचालित करने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने स्थानीय प्राथमिक स्कूल में बाउंड्रीवॉल निर्माण और विकासखंड बरमकेला के बिजलीविहीन बीस मजरों-टोलों में इस वर्ष पन्द्रह अगस्त तक बिजली पहुंचाने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने इन गांवों के विद्युतीकरण के लिए संबंधित अधिकारियों को तत्परता से कदम उठाने के निर्देश दिए।

आसान हुई गुंडरदेही से दुर्ग तक की यात्रा

रायपुर। गुंडरदेही क्षेत्र के जनता व दुर्ग से आने वाले अधिकारियों कर्मचारियों के मांग पर विधायक आरके राय ने शासन से सिटी बस सेवा प्रारम्भ करने का प्रयास सफल हो गया है। मंगलवार की दोपहर 12 गुंडरदेही में गुंडरदेही बस स्टैंड से विधायक श्री राय ने सिटी बस सेवा का शुभारंभ किया। यह बस दुर्ग रेलवे स्टेशन से गुंडरदेही तक चलेगा। दुर्ग से सुबह 7:10 से चालू होकर रात 7:30 अंतिम बस गुंडरदेही तक चलेगा व गुंडरदेही से सुबह 6:45 से चालू होकर रात 8:00 बजे अंतिम बस दुर्ग तक चलेगी। किराया मात्र 21 रुपए है।

महापौर उद्यान विकास कार्य का किया निरीक्षण

रायपुर। नगर निगम रायपुर के महापौर प्रमोद दुबे ने नगर निगम जोन 3 के लाल बहादुर शास्त्री वार्ड क्षेत्र के तहत इंदिरावती कालोनी राजातालाब में केन्द्र प्रवर्तित समाज हितकारी मिशन अमृत के तहत 50 लाख रू. की लागत से समाज हित में पर्यावरण संरक्षण हेतु निमार्णाधीन उद्यान के सौंदर्यीकरण कार्य की वर्तमान प्रगति का प्रत्यक्ष अवलोकन जोन 2 कार्यपालन अभियंता विनोद देवांगन, मिशन अमृत सहायक नोडल अधिकारी विजय सिंह ठाकुर की उपस्थिति में किया। महापौर ने नाले के निर्माण में ढाल का विशेष ध्यान रखने जोन अधिकारियो को कडी हिदायत दी । ताकि सुगमता से गंदे पानी का नये नाले से निकास सुनिश्चित हो सके। महापौर ने गुणवत्ता में कमी मिलने पर कडी कार्यवाही करने की चेतावनी संबंधित जोन अधिकारियो को दी ।

वेण्डर पालिसी का स्मार्ट क्रियान्वयन करें

रायपुर। महापौर प्रमोद दुबे ने मंगलवार को संध्या नगरीय नियोजन एवं भवन अनुज्ञा विभाग के अध्यक्ष अनवर हुसैन की उपस्थिति में सभी जोन कमिश्नरो, जोन कार्यपालन अभियंताओ की बैठक बुलाकर उन्हे स्मार्ट सिटी की तर्ज पर राजधानी को सुन्दर बनाने वेण्डर पालिसी का स्मार्ट क्रियान्वयन जोन स्तर पर प्रभावी तरीके से नगर को स्वच्छ व सुन्दर बनाने प्राथमिकता के आधार पर प्रारंभ करने के निर्देश दिये। महापौर ने वेण्डर पालिसी के क्रियान्वयन के माध्यम से वेण्डर्स को नई पहचान देने सहित नगर निगम रायपुर के हित में राजस्व आय का नया स्त्रोत विकसित करने पर कार्य करने हेतु विशेष बल दिया। महापौर श्री दुबे ने सभी जोन कमिश्नरो को 15 दिनो की समय सीमा निर्धारित करते हुए अपने-अपने जोन में स्मार्ट तरीके से वेण्डर पालिसी क्रियान्वयन प्रारंभ करने हेतु वेण्डर जोन चिन्हित करने एवं जहां चिन्हित हो गये हो वहां वेण्डर पालिसी का क्रियान्वयन प्रारंभ करने की कार्यवाही के निर्देश दिये। महापौर श्री दुबे ने वेण्डर पालिसी के तहत स्मार्ट सिटी के अंतर्गत वेण्डर्स को ईको कार्ड ठेले देने के निर्देश दिये ताकि उनके ठेले शहर की सुन्दरता में निखार ला सके।

शिवराज करेंगे ‘टिफिन’ पर चर्चा

भोपाल। लोकसभा चुनाव जीतने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2014 में जन संवाद के लिये चाय पर चर्चा का जो कार्यक्रम शुरू किया था उसे शिवराज सिंह चौहान आगे बढ़ाकर ‘टिफिन’ तक ले जाने वाले हैं। 2018 का विधानसभा चुनाव जीत कर हैट-ट्रिक बनाने की कोशिश में जुटे शिवराज अब प्रदेश में घूम-घूम कर पार्टी के कार्यकर्ताओं और प्रबुद्धजनों से ‘टिफिन पर चर्चा’ करेंगे। शिवराज का यह अभियान 20 मई के बाद शुरू होगा। इस अभियान की अनौपचारिक शुरुआत उन्होंने मंगलवार को अपने मंत्रियों के साथ की। शिवराज ने एक दिन पहले ही सभी मंत्रियों को यह संदेश भिजवा दिया था कि वे मंगलवार को जब कैबिनेट की बैठक में आएं तो अपने घर से टिफिन साथ लेकर आएं। मुख्यमंत्री के आदेश का पालन सभी मंत्रियों ने किया। सभी मंत्री अपने-अपने टिफिन लेकर कैबिनेट बैठक में पहुंचे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी अपना टिफिन लाए थे।

योगी सरकार ने बदली 100 बाहुबलियों की जेल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपराध पर लगाम कसने के लिए करीब 100 बाहुबली अपराधियों की जेलें बदली गई हैं। उन्हें अपने गृहनगर से काफी दूर दूसरी जेलों में भेजा गया है ताकि उनका स्थानीय क्राइम नेटवर्क तबाह किया जा सके। योगी सरकार में जिन बाहुबलियों की जेलें बदली गई हैं उनमें मुख्तार अंसारी, मुन्ना बजरंगी, अतीक अहमद, शेखर तिवारी, मौलाना अनवरुल हक, मुकीम उर्फ काला, उदयभान सिंह उर्फ डॉक्टर, किरनपाल उर्फ टीटू, रॉकी उर्फ काकी और आलम सिंह जैसे अहम नाम शामिल हैं। मुख्तार अंसारी को लखनऊ से बांदा जेल भेजा गया है। अतीक अहमद को नैनी सेंट्रल जेल से देवरिया, मुन्ना बजरंगी को झांसी जेल से पीलीभीत और शेखर तिवारी को बाराबंकी से महाराजगंज जेल शिफ्ट किया गया है।

कोलकाता की कार्लगल्र्स के साथ चल रही थी अय्याशी

--सैलून की आड़ में हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट, संदिग्ध हालत में मिली 7 युवतियां
कोरबा. शनिवार की रात करीब 10 बजे पुलिस ने पावर हाउस रोड स्थित एक होटल में छापा मारकर देह व्यापार का खुलासा किया है। होटल के मैनेजर और कोलकाता से आई एक कॉलगर्ल को गिरफ्तार किया है। एक अन्य कॉलगर्ल की तलाश जारी है।
घटना पावर हाउस रोड स्थित होटल आमंत्रण की है। कोतवाली टीआई विवेक शर्मा ने बताया कि उक्त होटल में देह व्यापार का धंधा चलाए जाने की खबर मिली थी। शनिवार की रात करीब 10 बजे पुलिस ने एक युवक को ग्राहक बनाकर होटल में भेजा। युवक ने होटल के मैनेजर लालू सिंह से बातचीत की और 4500 रुपए देकर कॉलगर्ल के कमरे में चला गया।
5000 रु जिस्म का रेट, वा्ट्सएप से की जाती थी लड़कियों की डील.इस बीच युवक ने मौका देख होटल से ही पुलिस को सूचना दे दी। इसके बाद पुलिस ने होटल में छापामार कार्रवाई की। कमरे से एक कॉलगर्ल को पकड़ा। उससे पूछताछ में पता चला कि कोलकाता से दो युवतियों को देह व्यापार के लिए बुलाया गया है। एक महिला दलाल के जरिए दोनों युवतियां कोलकाता से कोरबा लायी गई हैं। 
WhatsApp पर फोटो देखकर लगती थी बोली
घटना के बाद महिला दलाल का मोबाइल बंद आ रहा है। पुलिस ने होटी के मैनेरज लालू सिंह को भी गिरफ्तार कर किया है। पूछताछ में लालू ने बताया है कि प्रति ग्राहक 4500 रुपए लिया जाता था। इसमें एक हजार रुपए रुम किराया तथा 3500 रुपए कॉलगर्ल उपलब्ध कराने के लिए लिया जाता था। 
पिछले तीन दिन से इसी होटल में कॉलगर्ल रह रही थी। इस दौरान एक दर्जन से अधिक लोगों का संपर्क हुआ था। संपर्क में आने वाले ग्राहकों की भी छानबीन की जा रही है। कार्रवाई के दौरान कोतवाली टीआई विवेक शर्मा, मानिकपुर चौकी प्रभारी डॉ. अनुराग झा सहित अन्य पुलिस कर्मी मौजूद थे।

 

आदिवासियों को सुरक्षा का एहसास कराये सरकार

—क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष अवधेश सिंह गौतम ने कहा
रायपुर। क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष अवधेश सिंह गौतम ने नक्सली समस्या के समाधान के लिए सरकार को सुझाव दिया है। उन्होंने राज्य और केन्द्र सरकार से आग्रह किया है कि वे बस्तर के आदिवासियों को सुरक्षा का एहसास करा दें तो आदिवासी कभी भी नक्सली का साथ नहीं देंगे और सरकार के साथ खड़े मिलेंगे। उन्होंने प्रत्येक पांच किलोमीटर की दूरी पर पुलिस थाने की स्थापना कराए जाने का भी सुझाव दिया। वर्ष 2010 में दंतेवाड़ा के नकुलनार निवासी श्री गौतम के घर पर नक्सलियों ने हमला बोला था। उस समय उन्होंने नक्सलियों से मुकाबला किया था। इसके बाद से सरकार ने उनकी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। श्री सिंह ने मंगलवार को एक मुलाकात में नक्सली समस्या पर विस्तार से चर्चा की और कहा कि बस्तर का एक भी आदिवासी न तो नक्सली है और न ही उनके विचारधारा से ताल्लुक रखता है। वह परिस्थितियों का मारा है और इसका लाभ आन्ध्र प्रदेश और उड़ीसा से आने वाले नक्सली नेता उठाया करते हैं।

बृजमोहन फैन्स क्लब ने किया वीर जवानों का सम्मान

रायपुर। प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के जन्मदिवस पर बृजमोहन अग्रवाल फैन्स ग्रुप के सदस्यों की की टोली बालाजी एवं रामकृष्ण अस्पताल पहुंची और सुकमा बुकार्पाल के नक्सली हमले में घायल हुए वीर जवानों से मुलाकात की। उन्होंने जवानों को साल श्री फल भेट कर सम्मानित किया साथ ही फलों की टोकरी व् मिठाई भेट करते हुए उन्हें सीघ्र स्वस्थ होने की शुभकामनायें दी। इस अवसर पर फैन्स ग्रुप के योगेश अग्रवाल, गफ्फु मेमन, पाहवा, विकास साहू, प्रशांत ठाकुर समेत कई लोग उपस्थित थे।

1942 के आन्दोलन में छोटी रेल से यात्रा करते थे पूर्व राष्ट्रपति वीवी गिरी

–नैरोगेज के 177 साल पुराने इतिहास पर इकबाल अहमद रिजवी ने साझा की यादें
रायपुर। नैरोगेज यानि छोटी रेल अब रायपुरियंस के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गयी है। इसका संचालन ब्रिटिश सरकार ने 1901 में शुरू किया था जो 177 साल के बाद 30 अप्रैल 2017 को बंद हो गयी। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के मीडिया विभाग के चेयरमैन व पूर्व मंत्री इकबाल अहमद रिजवी ने इस ट्रेन के 177 साल के इतिहास के दिलचस्प यादों को साझा किया। श्री रिजवी ने बताया कि 1901 में रायपुर से धमतरी के लिए छोटी रेल का संचालन शुरू हुआ। उस समय इस ट्रेन में केवल दो डिब्बे हुआ करते थे। इस वजह से लोग इसे ‘दो डबिया’ ट्रेन भी कहा करते थे। शुरुआती दौर में इस ट्रेन में भाप का इंजन लगता था। बाद में यात्रियों की संख्या के अनुसार पांच से छह डिब्बे लगाये जाने लगे। उन्होंने बताया कि इसी ट्रेन से 1942 में अंग्रेजो भारत छोड़ो आन्दोलन के दौरान अंडर ग्राउंड चल रहे क्रान्तिकारी वीवी गिरी इसी ट्रेन से भटगांव से रायपुर आया करते थे।
वीवी गिरी ने भटगांव में ले रखी थी शरण
श्री रिजवी ने बताया कि 1942 में अग्रेंजों के खिलाफ बगावत कर रहे क्रान्तिकारी वीवी गिरी के खिलाफ ब्रिटिश हुकूमत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उस दौरान भटगांव के रहने वाले सैयद वकील अहमद ने वीवी गिरी को शरण दी और वह यहां आकर दो माह तक रहे थे। सैयद वकील अहमद, इकबाल अहमद रिजवी के चाचा रहे। उन्होंने भटगांव में चमड़े का कारखाना टेनरी एंड टैक्सी डर्मिस्ट खोल रखा था। इस कारखाने में तेलगू और तमिल समाज के लोग वर्कर थे। वीवी गिरी उन्हीं के साथ मजदूरों के वेश में रहा करते थे ताकि उन्हें कोई पहचान न सके।
1947 में बना माना कैंप हाल्ट स्टेशन


प्रारंभ में छोटी रेल के लिए रायपुर और धमतरी के बीच का एक स्टेशन भटगांव था। वर्ष 1947 में भारत पाकिस्तान के बीच हुए विभाजन के बाद जब सिंधी शरणार्थी माना कैंप में आये तो उनके लिए माना में हाल्ट स्टेशन की स्वीकृति प्रदान की गई। माना को ब्रिटिश हुकूमत ने अपना ट्रांजिट कैंप बना रखा था।

हबीब तनवीर इसी ट्रेन से भटगांव जाते थे
छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध रंगकर्मी हबीब तनवीर रायपुर से इसी छोटी ट्रेन से कलाकारों को ढूढने और उनसे मिलने के लिए भटगांव स्टेशन तक जाया करते थे। इस ट्रेन की यादें रायपुर के आम नागरिकों के साथ रंगकर्मियों और अन्य लोगों के साथ बड़ी गहराई के साथ जुड़ी रहीं।

अभनपुर जंक्शन स्टेशन था
रायपुर से धमतरी और राजिम के लिए दो अलग-अलग छोटी ट्रेन का संचालन हुआ करता था। इन दोनों लाइनों के बीच समन्वय बनाने के लिए अभनपुर को जक्शन स्टेशन का दर्जा दिया गया था। रायपुर से चलकर छोटी ट्रेने अभनपुर से धमतरी और राजिम के लिए कट जाया करती थी।

ज्यादातर लोग बिना टिकट यात्रा करते थे
छोटी ट्रेन आज भी लोगों को दो कारणों से विशेष रुप से याद है। एक यह कि इस पर यात्रा करने वाले लोगों में से ज्यादातर बिना टिकट के लोग हुआ करते थे। लोगों के बीच किसी का भय नहीं था, इसलिये लोग टिकट नहीं लिया करते थे। दूसरा यह कि ट्रेन इतनी धीमी चलती थी कि यात्री आसानी से उतरकर पकौड़ी खरीद ले और फिर ट्रेन पर सवार हो जाए।