Daily Archives: May 4, 2017

27 अगस्त से शुरू होगा एकजुट विपक्ष का मिशन 2019

नई दिल्ली। 2019 आम चुनाव से पहले विपक्षी दलों के महागठबंधन के चुनावी अभियान की औपचारिक शुरुआत पटना के गांधी मैदान से हो सकती है। आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने 27 अगस्त को पटना में सभी विपक्षी दलों की महारैली बुलाने का ऐलान किया। गुरुवार को लालू प्रसाद ने दावा किया कि इस रैली में तमाम विपक्षी दलों के नेता शामिल होंगे और यहीं से 2019 आम चुनाव से पहले विपक्ष को ताकत मिलनी शुरू हो जाएगी। इस रैली को नाम दिया गया है ‘भाजपा भगाओ-देश बचाओ।’ बिहार विधानसभा चुनाव से पहले भी आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस ने महागठबंधन बनाने के बाद संयुक्त रैली के साथ ही चुनावी अभियान की औपचारिक शुरूआत की थी।

सभी बड़े विपक्षी नेताओं से मिलने जाएंगे लालू
आरजेडी के प्रवक्ता प्रगति मेहता ने कहा कि इस रैली को बिहार का अब तक की सबसे बड़ी रैली बनाने की योजना बनाई गई है और इसकी तैयारी अभी से शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद अगले दो महीने में सभी विपक्षी नेताओं से खुद मिलकर उन्हें इसमें शामिल होने का आमंत्रण देंगे। लालू प्रसाद रैली में भाग लेने के लिए सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मायावती,अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, शरद पवार, नवीन पटनायक, स्टालिन, देवेगौड़ा सहित तमाम दूसरे विपक्षी नेताओं को बुलाएंगे और इसके लिए मुलाकात का दौर जल्द शुरू होगा।

नीतीश रहेंगे सेंटरस्टेज में?
सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद की पहल पर बुलाई जा रही रैली में मुख्य फोकस नीतीश कुमार पर रह सकती है। विपक्षी एकता की कोशिशों के बीच कांग्रेस ने संकेत दिया है कि यूपीए का विस्तार करते हुए तमाम विपक्षी दलों की एक कमिटी बन सकती है जिसके संयोजक नीतीश कुमार बनाए जा सकते हैं। सोनिया गांधी की इसकी अध्यक्ष बनने की संभावना है। विपक्षी दलों का दबाव है कि इस कमिटी का गठन जल्द से जल्द हो जाए। अगर 27 अगस्त से पहले इस कमिटी का गठन औपचारिक रूप से हो जाता है तो नीतीश कुमार संयुक्त विपक्ष के चेहरे के रूप में उभर सकते हैं और इस रैली में उसकी झलक मिल सकती है।

सुकमा में शहीद जवानों के परिजनों को बाबा देंगे 2-2 लाख रुपए

रायपुर। योगगुरु बाबा रामदेव ने सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद जवानों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। इसका ऐलान उन्होंने गुरुवार को हरिद्वार में पतंजलि ब्रांड की सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते किया। बाबा रामदेव ने कहा, हमने सुकमा के शहीदों के लिए 2-2 लाख रुपये देने का ऐलान किया है। हम शहीदों के बच्चों की शिक्षा के लिए स्कूल खोलेंगे। यह आवासीय स्कूल 1000 बच्चों की क्षमता वाला होगा। यहां पर सभी बच्चों को मुफ्त में शिक्षा मिलेगी।
एक के बदले 100 सिर काटो
सीमा पर भारतीय शहीदों के साथ हुई बर्बरता से बौखलाए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि भारत को एक सिर के बदले 100 पाकिस्तानी सैनिकों के सिर काटना चाहिए। बाबा रामदेव ने यहां पतंजलि की सलाना प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि हमें इजरायल की नीतियों का पालन करना चाहिए। अगर पाकिस्तान हमारे एक सैनिक का सिर काटे तो हमें 100 सिर काटने चाहिए। उन्होंने कहा, मैंने शहीद सैनिकों के परिजनों को रोते-बिलखते देखा हूं। शहीदों के परिजन यह भी पूछ रहे हैं कि आखिर उनके बच्चे के शव को क्षत-विक्षत क्यों किया गया।
पतंजलि का टर्नओवर 10 हजार करोड़ हुआ
बाबा रामदेव ने बताया कि पतंजलि का टर्नओवर 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा गया है। उन्होंने कहा, हमारा टर्नओवर 100 फीसदी की दर से बढ़ रहा है। अब पतंजलि का टर्नओवर 10561 करोड़ रुपये हो गया है। रामदेव ने कहा कि वर्तमान में हमारे पास 30-40 हजार करोड़ सालाना की उत्पादन क्षमता है, अगले साल तक यह क्षमता 60 हजार करोड़ तक होगी। रामदेव ने कहा कि हमारी नोएडा में यूनिट लगेगी, इस यूनिट में 20-25 हजार करोड़ रुपये प्रोडक्शन क्षमता होगी। रामदेव ने कहा कि अगले एक-दो साल में पतंजलि देश का सबसे बड़ा स्वदेशी ब्रांड होगा।

बलरामपुर जिले के खेतों में पहुंचे कृषि मंत्री बृजमोहन

–सौर सुजला योजना से लाभन्वित हो रहे किसान, किसानों की आय दुगुनी करने हो रहे ठोस प्रयास
रायपुर। लोकसुराज अभियान के तहत सरगुजा संभाग के प्रवास पर निकले प्रदेश के कृषि एवं सिंचाई मंत्री बृजमोहन अग्रवाल आज जिला बलराम पहुंचे। यहां उन्होंने  सर्वप्रथम रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम कमलपुर का दौरा किया। वे किसानों के खेत में पहुंचे, और खेती बाड़ी पर चर्चा की। श्री अग्रवाल ने शासन की सौर सुजला योजना से लाभन्वित कमलपुर के किसान प्रांतुष के खेत पहुंचे और उनकी उन्नत खेती को देखा। प्रांतुष ने ढाई एकड़ के रकबे में खीरा,लौकी,बरबट्टी और तरबूज आदी की खेती कर रहे है। उसने श्री अग्रवाल को बताया कि पहले वह एक फसल ही ले पाता था परंतु शासन की योजना सौर सुजला के तहत 3 एचपी सोलर पम्प खेत में लगने से जीवन ही बदल गया है। सोलर पंप के चलने से पानी की कमी नही रहती अब 3 फसल लेने की स्थिति में हूँ। बृजमोहन ने किसान प्रांतुष को शुभकामनायें देते हुए कहा कि शासन की योजनाओं का लाभ लेते हुए इसी तरह लाभ लेते रहे और आगे बढ़ें। श्री अग्रवाल ने बताया कि  सौर सुजला योजना का जिक्र करते हुए कहा कि असाध्य पम्पों जहां पर बिजली कनेक्शन नही दे सकने की स्थिति है या किसानों के लिए ज्यादा खर्चीली है ऐसे जगह पर यह योजना बेहद कारगर है। इस योजना के माध्यम से सौर ऊर्जा से चलने वाला साढ़े पांच लाख रुपये बाजार मूल्य का 5 एचपी पम्प 12 से 20 हज़ार रुपये और साढ़े 3 लाख रुपये मूल्य वाली 3 एचपी पम्प 7 से 18 हज़ार रुपये में सरकार प्रदान कर रही है। बलरामपुर जिले में  सौर सुजला योजना के तहत 500 पंप कनेक्शन किसानों को प्रदान किये गए है, जिससे उनके खेतों में पर्याप्त पानी की व्यवस्था हो पा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी भाजपा सरकार किसानों की आय दुगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध है। सिंचाई का रकबा बढ़े और किसानों के जीवन में खुशहाली आये इस हेतु हम निरंतर प्रयास कर रहे है।

यादव को बचाने अखिलेश ने खर्च किए थे 21 लाख रुपये

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा के पूर्व मुख्य अभियंता यादव सिंह मामले में सीबीआई जांच से बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकीलों पर 21. 15 लाख रुपये खर्च किए थे। यह जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता नूतन ठाकुर द्वारा प्राप्त सूचना से सामने आया है। नूतन की ओर से दायर जनहित याचिका पर इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ ने इस मामले को सीबीआई को स्थानांतरित किया था। अखिलेश यादव की अगुआई वाली तत्कालीन सरकार ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की थी जो 16 जुलाई 2015 को पहली सुनवाई के दिन ही खारिज हो गई पर अखिलेश सरकार ने सीबीआई जांच से बचाने के लिए हरसंभव प्रयास किया था। आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पैरवी के लिए चार वरिष्ठ वकील नियुक्त किए थे। इनमें कपिल सिब्बल को 8. 80 लाख रुपये, हरीश साल्वे को 5 लाख रुपये, राकेश द्विवेदी को 4. 05 लाख रुपये और दिनेश द्विवेदी को 3. 30 लाख रुपये दिए गए थे। कुल 21. 25 लाख रुपये इन वकीलों को दिए गए। नूतन ने कहा कि यह वास्तव में अफसोसजनक है कि यादव सिंह जैसे दागी को बचाने के लिए राज्य सरकार ने इतनी भारी धनराशि खर्च की।

साईं बाबा मंदिर में रोज मिलता है डेढ़ करोड़ का चंदा

मुंबई। पिछले सात साल में मंदिरों को मिलने वाले दान की राशि लगभग दोगुनी हो गई है। महाराष्ट्र के कानून एवं न्याय विभाग ने मंदिरों को मिलने वाले चंदे और उनके खर्च पर एक रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में बताया गया है कि मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर को रोजाना 25 लाख रुपये से ज्यादा और शिरडी साईं बाबा को डेढ़ करोड़ रुपये से ज्यादा रोजाना दान के रूप में मिलते हैं। रिपोर्ट की मानें तो मुंबई के प्रभादेवी स्थित सिद्धिविनायक मंदिर को 2009-10 में करीब 12 लाख 21 हजार रुपये औसतन रोजाना दान में मिलते थे। लेकिन 7 साल बाद यह संख्या लगभग दोगुनी हो गई है। पिछले 9 महीनों में मंदिर के ट्रस्ट को दान के रूप में करीब 70 करोड़ 70 लाख रुपये मिले हैं। ऐसे में रोजाना दान में मिलने वाले पैसे करीब 25 लाख 70 हजार रुपये हो गए हैं। वहीं शिरडी के साईं बाबा संस्थान को दान में रोजाना करीब 1 करोड़ 53 लाख रुपये मिलते हैं। सात साल पहले यह संख्या करीब 53 लाख रुपये रोजाना थी। राज्य के कानून एवं न्याय विभाग ने मंदिरों को मिलने वाले दान की रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट को देखकर साफ तौर पर कहा जा सकता है कि मंदिरों को दानपात्र नकदी से लबालब हैं।