Daily Archives: May 19, 2017

वाघेला का छुट्टी पर जाना कांग्रेस के लिए परेशानी का सबब

नई दिल्ली। गुजरात में कांग्रेस के सीनियर नेता शंकर सिंह वाघेला का मौजूदा रवैया न सिर्फ कांग्रेस को हैरान करने वाला है, जबकि पार्टी के लिए परेशानी खड़ी करने वाला भी है। जहां कुछ दिन पहले वाघेला ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अनफॉलो कर दिया था, वहीं अब अचानक उनका छुट्टियों पर जाना भी पार्टी की समझ से बाहर है। कहा जा रहा है कि वाघेला खुद को कांग्रेस की तरफ से सीएम पद का उम्मीदवार घोषित कराना चाहते थे, लेकिन पार्टी ने ऐसा नहीं किया। ऐसे में उनके नाराज होकर छुट्टी पर जाने की बात कही जा रही है। सूत्रों की मानें तो, वह पिछले तकरीबन एक हफ्ते से विदेशी दौरे पर हैं। उनके बाहर जाने के बारे में किसी को भी जानकारी नहीं है। ऐसी भी चर्चा है कि वह चीन गए हैं। हालांकि कांग्रेस की तरफ से तमाम सफाई दी जा रही है, लेकिन खुद वाघेला समर्थकों का मानना है कि वह हाइकमान से रुख से निराश होकर गए हैं। अप्रैल में कांग्रेस के दो तिहाई से ज्यादा विधायकों ने वाघेला को सीएम कैंडिडेट घोषित किए जाने की मांग की थी।

भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ के आसपास फंसे हजारों यात्री

देहरादून। चमोली जिले में लगातार हो रही बारिश अब यात्रियों के लिए मुसीबत का सबब बन गई है। शुक्रवार को विष्णुप्रयाग के नजदीक हाथीपहाड़ में पहाड़ी दरकने से बद्रीनाथ हाईवे पूरी तरह से बाधित हो गया। इस वजह से करीब 15 हजार लोगों के रास्ते में फंसे होने की आशंका है। इस भूस्खलन के बाद प्रशासन ने लोगों को रास्ते में ही रोक दिया। दोपहर तीन बजकर 23 मिनट पर हाथीपहाड़ में अचानक चट्टान टूटकर गिरने के बाद हाईवे का 50 मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया।

यूपी: बड़े स्तर IAS अधिकारियों के तबादले

लखनऊ। यूपी में प्रशासनिक स्तर पर बड़े पैमाने पर फेरबदल हुए हैं। पिछले 2 महीने में यह चौथा मौका है जब इतने बड़े स्तर पर आईएएस अफसरों का तबादला किया गया। इससे पहले 3 मई को 25 आईएएस अधिकारियों का ट्रांसफर किया गया था। वहीं 26 अप्रैल को 84 आईएएस और 54 आईपीएस अधिकारियों का ट्रांसफर किया गया था। वहीं इस बार सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने 74 अधिकारियों का तबादला किया है। इन अधिकारियों में शशि प्रकाश गोयल का नाम सबसे प्रमुख है, जो अब तक प्रतीक्षारत थे। गोयल को सीएम का प्रमुख सचिव बनाने के साथ नागरिक उड्डयन एवं राज्य सम्पत्ति और प्राेटोकॉल विभाग का काम दिया गया है।

सरला के साथ सात फेरे लेंगे विधायक नवीन

रायपुर। छत्तीसगढ़ से मंदिर हसौद विधानसभा के भाजपा विधायक नवीन मारकण्डेय रविवार को सरला जोशी को अपना जीवन साथी बनाएंगे और उनके साथ सात फेरे लेंगे। वैवाहिक कार्यक्रम मंदिर हसौद के डीएवी स्कूल में आयोजित किया गया है। इस भव्य शादी में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और कैबिनेट के सभी मंत्रियों के अलावा पक्ष-विपक्ष के सभी 90 विधायकों को आमंत्रित किया गया है। शादी की बारात शाम 4 बजे निकलेगी और रात 8 बजे से रिस्पेशन शुरू होगा। केंद्रीय मंत्रियों को भी आमंत्रण भेजा गया है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के तीसरे कार्यकाल के नवीन पहले विधायक हैं जो विवाह के बंधन में बंध रहे हैं। नवीन के साथ सात जन्मों का वादा निभाने जा रही सरला जोशी मंदिर हसौद की ही रहने वाली है। सरला के पिता मोनेट इस्पात में सीनियर इंजीनियर हैं। उनकी पूरी पढ़ाई रायपुर में ही हुई है। सरला जोशी ने रायपुर के डागा गर्ल्स कालेज से एमकॉम की पढ़ाई पूरी की है।

जुलाई से बंद हो जाएगा सेंट्रल एक्साइज का बिलासपुर कार्यालय

—वित्त मंत्रालय के निर्णय से परेशान होंगे अफसर और कर्मचारी
रायपुर। वस्तु एवं सेवाकर प्रणाली की नई व्यवस्था में वित्त मंत्रालय द्वारा छत्तीसगढ़ के साथ उपेक्षात्मक बर्ताव किया गया है। इसका खामियाजा यहां सेंट्रल एक्साइज एवं कस्टम सर्विस कार्यालय में पदस्थ अधिकारी और कर्मचारियों को भुगतना पड़ेगा। गौरतलब है कि सर्विस और कस्टम टैक्स की वसूली के लिए छत्तीसगढ़ में उद्यमियों की सुविधा के लिए रायपुर बौर बिलासपुर में आयुक्त कार्यालय संचालित किए गए है। वस्तु एवं सेवाकर प्रणाली की नई व्यवस्था के अन्तर्गत वित्त मंत्रालय ने जुलाई 2017 से बिलासपुर आयुक्त कार्यालय को बंद करने का निर्णय लिया गया है। गुरुवार को रात यहां के अधिकारी और कर्मचारियों को इस बात की जानकारी मिली तो सभी हैरान रह गये। इसका आशय यह है कि बिलासपुर आयुक्त कार्यालय के बंद हो जाने से यहां पदस्थ अधिकारी और कर्मचारियों को स्थानांतर मध्य प्रदेश में संचालित भोपाल, इंदौर, उज्जैन और जबलपुर कार्यालय में कहीं के लिए किया जा सकेगा।

उद्यमियों को उठानी पड़ेगी परेशानी
वित्त मंत्रालय के इस निर्णय से छत्तीसगढ़ के दूरदराज सरगुजा और कोरबा जैसे इलाकों में काम कर रहे उद्यमियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। अभी तक यहां के उद्यमी बिलासपुर कार्यालय पहुंचकर अपनी समस्या का समाधान कर ले रहे हैं। जुलाई से उन्हें अपने काम के लिए रायपुर आना पड़ेगा।

बिलासपुर कार्यालय यथावत रहे
सरगुजा, अंबिकापुर, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरबा जैसे दूरस्थ इलाकों में व्यवसाय कर रहे उद्यमियों की मांग है कि बिलासपुर स्थित सेंट्रल एक्साइज के कार्यालय को यथावत रखा जाए। बिलासपुर कार्यालय के यथावत रहने से उद्यमियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा।