Monthly Archives: June 2017

अडानी और एस्सार ग्रुप को उबारने 40 हजार करोड़ खर्च करेगी सरकार

नई दिल्ली। एक ओर गरीब किसानों का कर्जा माफ करने में सरकारों का पसीना छूट रहा है वहीं अडानी और एस्सार जैसे पूंजीपतियों के बीमार कर्ज में डूबे पावर प्लांटों को खरीदकर उन्हें कर्ज मुक्त करने की तैयारी में है। कुछ समय पहले सरकार ने टाटा समूह के मूंदड़ा पावर प्लांट की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी मात्र एक रुपए में खरीदी थी। अब अडानी और एस्सार ग्रुप के घाटे में चल रहे पावर प्लांटों को उभारने के लिए 40,000 करोड़ रुपए खर्च सरकार करेगी। कहने को तो यह एक वित्तीय मदद है, लेकिन इसके पीछे एक बड़ा घोटाला होने की चर्चा है । घाटे में चल रहे पावर प्लांटों को वित्तीय मदद की बात गले नहीं उतर रही है। ऊर्जा मंत्रालय ने बीते 20 जून को एक बैठक में अडानी और एस्सार ग्रुप के घाटे में चल रहे पावर प्लांट की 100 फीसदी इक्विटी मात्र एक रुपए में राज्यों को देने का फैसला किया है। इसके लिए केंद्रीय पावर मंत्रालय राज्य सरकार को हजारों करोड़ रुपया की वित्तीय मदद दे रही है जो बैंक के कर्ज को चुकाने में उपयोग होगी। इसका अर्थ यह है कि भले ही यह पावर प्लांट एक रुपए में सरकार के पास आ जाएंगे किंतु इसके साथ ही इनके ऊपर की सारी देनदारी भी सरकार के हिस्से में आएगी। अडानी के पावर प्लांट की बाजार कीमत केवल करीब 3000 करोड़ रुपए है, लेकिन इस पर 49230 करोड़ रुपए का कर्ज है। यह कर्ज़ भी सरकार को चुकाना पड़ेगा । इस प्रकार जिस प्लांट को एक रुपए में खरीदा जाएगा, वह करीब 46 हजार करोड़ रुपए में सरकार को पड़ेगा। एस्सार के पावर प्लांट पर भी 5000 करोड़ का कर्ज है जो सरकार द्वारा ही वहन किया जायेगा । सवाल यह है कि सरकार इन घाटे में चल रहे पावर प्लांटों को बचाना क्यों चाहती है? सुप्रीम कोर्ट ने अप्रैल माह में टाटा, अडानी जैसे समूहों की बिजली कंपनियों को बिजली के दाम बढ़ाने से इनकार कर दिया था। इसके बाद इन कंपनियों के शेयर भी बहुत गिर गए थे। घाटे में चल रही कंपनियां अब सरकार के भरोसे कर्ज के बोझ से उभरना चाह रही है, एक रुपए में इक्विटी का खेल बहुत गहरा है । रिजर्व बैंक ने कुछ समय पहले ऐसे 12 नामों का खुलासा किया थो जिन पर 5000 करोड़ से अधिक का कर्जा था। अब बीमार उद्योगों को सरकार को बेचने के नाम पर इस कर्जे को देश के कर दाताओं के कंधों पर लादा जा रहा है ।

गरीब और किसान वर्ग की सरकार है भाजपा

रानीगंज(प्रतापगढ़)। पृथ्वीगंज मंडल के भाजपा अध्यक्ष अंशुमान सिंह की अध्यक्षता में दीन दयाल जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में सरकार द्वारा आम जनमानस के कल्याण हेतु संचालित योजनाओं से लोगों को अवगत कराने के लिये “जन कल्याण सम्मलेन” का आयोजन छितपालगढ़ में आयोजित किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अंशुमान सिंह ने वहाँ मौजूद लोगों को संबोधित करते हुये कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में देश उन्नति की ओर अग्रसर है।देश को विश्व गुरु बनाने का कार्य हमारे प्रधानमंत्री जी द्वारा किया जा रहा है।जनहित में अनेक योजनाएं संचालित हो रही है जिसमे उज्ज्वला योजना, किसान बीमा योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा, मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत अभियान आदि प्रमुख है सरकार की समस्त योजनायें ग्रामीण,गरीब,किसानों के  लिये है।इसके पूर्व कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता देवानन्द त्रिपाठी पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा ने लोगों को तीन साल में केन्द्र सरकार के द्वारा किये गये कार्यों को ऐतिहासिक बताते हुये उपस्थित लोगों को योजना के बारे में विस्तार से बताया।उक्त मौके पर अवधेश मिश्र,राम कृष्ण मिश्र,सत्यम शुक्ल,सियाराम पटेल,लल्लू,विजय,कौशल, उमेश तिवारी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

कुरीतियों पर प्रहार करेगी फिल्म ‘पंचायत का फैसला’

रायपुर। छत्तीसगढ़ी फिल्म जगत में एक और सामाजिक, पारिवारिक फिल्म ‘पंचायत के फैसला’ ने अपनी धमाकेदार दस्तक दी है। फिल्म का फिल्मांकन रायपुर, बीरगांव के निकट कुम्हारी ग्राम में किया गया। विशुद्ध छत्तीसगढ़ी परिवेश-संस्कृति पर केन्द्रित इस फिल्म की पटकथा लेखक-निर्देशक मनीराम यादव तथा निर्माता डॉ. मनोज साहू हैं। फिल्म की कहानी बड़ी मार्मिक और हृदयस्पर्शी है । इसमें बुजुर्गों की अवहेलना, बहुओं की प्रताड़ना और झूठे बेबुनियाद आरोप लगाने की प्रवृत्ति को प्रभावी ढंग से प्रदर्शित किया गया है। फिल्म के विभिन्न किरदारों को अपनी सशक्त अभिनय क्षमता से जीवन्त किया वरिष्ठ रंगकर्मी अरूण काचलवार, विजय मिश्रा ‘अमित’, रामदास कुर्रे, देवशरण नाग, एलिजा धीर, गौरी क्षत्रिय, ज्योति सक्सेना, पूजा कश्यप, संतोषी, सिमरन, राजेन्द्र मानिकपुरी, विक्रान्त मिश्रा, कर्ण चैहान ने । फिल्म की कहानी का सार व्यक्त करते हुये पॉवर कंपनी के उपमहाप्रबंधक (जनसंपर्क) विजय मिश्रा ने बताया कि एक बूढ़े बीमार ससुर द्वारा बहु के हाथ पकड़ने की मामूली घटना से कहानी आरंभ होती है। इसे पढ़ी-लिखी बहू ससुर की भावना को गलत करार देती है। मामला गांव के पंचायत तक जा पहुंचता है। जहां सरपंच और महिला पंचों द्वारा बड़ी रोचकता के साथ इस सच्चाई को उजागर किया जाता है कि बूढ़े ससुर की लालसा घर के सदस्यों से अपनापन पाने की रही जिसे व्यक्त करने वह बहू का हाथ पकड़ता है। बूढ़े ससुर को निर्दोष साबित करते हुये पंचायत द्वारा यह बात सामने लाई जाती है कि वृद्धजनों की सेवा सहित गांव को संस्कारवान, स्वच्छ और व्यसनमुक्त बनाना है। नई युवा पीढ़ी और बूढ़े होते माता-पिता, सास-ससुर के मध्य बढ़ते ‘जनरेशन गैप’ की समस्या के नियंत्रण हेतु सुसंस्कार के महत्व को फिल्म में विशेष रूप से उजागर किया गया है।

वक्फ माफियाओं पर सरकार कसेगी शिकंजा

रायपुर। सेंट्रल वक्फ कौंसिल के सदस्यों की 76वीं बैठक नई दिल्ली में आयोजित की गई। अध्यक्षता केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने की। उन्होंने कहा कि देश में स्थित वक्फ सम्पत्तियों पर वक्फ माफियाओं के कब्जे, वक्फ बोर्डों में भ्रष्टाचार के विरुद्ध बड़े स्तर पर चल रहे अभियान में तेजी लाई जाएगी। पिछले 3 वर्षों में दो हजार से अधिक आपराधिक मुकदमे एवं कई वक्फ बोर्ड के शीर्ष पदों पर बैठे लोगों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। वक्फ सम्पत्तियों को अतिक्रमण मुक्त कर, जरूरतमंदों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण के लिए उनके इस्तेमाल की प्रक्रिया सफल हो रही है। बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष व सेंट्रल वक्फ कौंसिल के सदस्य मोहम्मद सलीम अशरफी उपस्थित हुए।

चेम्बर ने जीएसटी में व्यापारी को सजा के प्रावधान का किया विरोध

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर आॅफ कामर्स एंड इंड्रस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर परवानी ने 30 जून को जीएसटी की विसंगतियों को दूर किए जाने की मांग को लेकर प्रदेश में एक दिन के लिए व्यापार बंद का आह्वान किया है। गुरुवार को पत्रकारों से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि चेम्बर एक राष्ट्र, एक विधान, एक कर का पक्षधर है। पिछले कई सालों से इसकी मांग भी करता आ रहा है। जीएसटी उसी दिशा में एक सकारात्मक कदम है। किन्तु इसमें कुछ प्रावधान ऐसे किए गए हैं जिससे व्यापारियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि चेम्बर इन्हीं विसंगतियों को दूर किए जाने की मांग को लेकर आन्दोलन कर रहा है।
यह है चेम्बर की मांग
–व्यापारी को सजा की व्यवस्था खत्म की जाए।
–ई-बिल व्यवस्था व्यापारियों पर लागू न किया जाए।
–प्रतिमाह रिटर्न दाखिल किए जाने की जगह तीन माह में लिया जाए।
–विक्रेता यदि जीएसटी जमा नहीं करता है तो क्रेता का जिम्मेदार न माना जाए।
–कर की उच्चतम दर 15 प्रतिशत से अधिक न की जाए।
–आॅनलाइन रिटर्न की बाध्यता को खत्म किया जाए।

अन्य व्यापारी संघो ने किया समर्थन
चेम्बर के अध्यक्ष अमर परवानी के अध्यक्ष की घोषणा का मालवीय रोड व्यापारी संघ, एमजी रोड व्यापारी संघ, बंजारी रोड व्यापारी संघ, किराना मेवा व्यापारी संघ, सदर बाजर व्यावसायिक संघ, रायपुर सराफा एसोसिएशन, प्लाईवुड ट्रेडर्स एसोसिशन, स्वीट्स एंड स्नेक्स एसोसिएशन, टिंबर मर्चेन्ट एसोएिशन के साथ ही ट्रक ट्रांसपोर्टर्स संघों ने भी बंद का समर्थन किया है।

जीवन में हर समय जरुरी है संयम

रायपुर। संयम स्वर्ण महोत्सव के दूसरे दिन श्रद्धालुओं का उत्साह चरम पर था और ये उत्साह बता रहा था कि आचार्यश्री के द्वारा जो आध्यात्मिक गंगा बहाई जा रही है उसमे हर कोई समाना चाहता है। निश्चित तौर पर इस महोत्सव के द्वारा जनकल्याण के लिए कई महत्वपूर्ण कार्यों की ओर कदम बढ़ेंगे। परम पूज्य संत आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज के पचासवें मुनि दीक्षा दिवस के उपलक्ष्य पर छत्तीसगढ़ के नवोदित चंद्रगिरि तीर्थ डोंगरगढ़ में “संयम स्वर्ण महोत्सव” मनाया जा रहा है। गुरुवार को महोत्सव का दूसरा दिन था जिसमे मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे, संसदीय सचिव लाभचंद जी बाफना, सुधा मलैया जी और कई श्रद्धालु उपस्थित थे। डोंगरगढ़ में देश-विदेश से आए कई श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा हुआ है। संयम स्वर्ण महोत्सव के अंतर्गत साल भर मानव कल्याण के अनेक कार्य, सांस्कृतिक एवं धार्मिक कार्यक्रम देश के कई गांवों और शहरों में आयोजित किए जाएंगे। गुरुवार को दोपहर में मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे और संसदीय सचिव लाभचंद जी बाफना के उद्बोधन हुए। बच्चों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। शाम को भव्य संगीतमय आरती एवं भक्ति का कार्यक्रम संपन्न हुआ। आचार्यश्री के दीक्षा दिवस पर संयम स्वर्ण महोत्सव मनाया जा रहा है उसका पहला शब्द है ‘संयम’ और ये शब्द अपने आप में ही बहुत महत्वपूर्ण है। आज के भोगवादी युग में दो शब्द है एक उपयोग और एक भोग। जिसमे उपयोगिता तो लोगों के जीवन में अनिवार्य होती है पर जब उपयोगिता से आगे बड़ा जाता है तो भोग भाव उत्पन्न होता है। भोग में जब त्याग का भाव आता है तो वह उसे उपभोग में बदलता है और वहीं संयम कहलाता है। संयम जीवन में हर समय जरुरी है।

हठधर्मिता प्रगति की राह में सबसे बड़ा अवरोधक

कोलकाता। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के लिए खुशियों के शहर कोलकाता की यह यात्रा बहुत खास है क्योंकि बतौर राष्ट्रपति यह उनकी अंतिम कोलकाता यात्रा होगी। उन्होंने कहा, भारतीय गणतंत्र के राष्ट्रपति के रूप में संभवत: यह मेरी अंतिम कोलकाता यात्रा होगी। शहर में निवास कर चुके और बतौर राष्ट्रपति, मंत्री और सांसद यहां की कई यात्राएं करने वाले प्रणब मुखर्जी भारतीय सांख्यिकी संस्थान में आयोजित पी. सी. महलनोविस की 125वीं जयंती समारोह का उद्घाटन करने आये हैं। अपना कार्यकाल समाप्त होने से महज कुछ ही समय पहले शिक्षकों, अनुसंधानकर्ताओं और छात्रों के रूप में विद्वान लोगों को संबोधित करने का अवसर मिलने पर उन्होंने प्रसन्नता जतायी। प्रणब ने कहा, दिमागी हठधर्मिता और कठोरता प्रगति और विकास की राह में सबसे बड़ा अवरोधक हैं, लोगों को विभिन्न विचारों को खुले दिमाग से स्वीकार करना चाहिए और फिर परेशानी का हल निकालने हेतु उसका विश्लेषण करना चाहिए। उन्होंने 1991 की तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा किए गये सुधारों की बात की और खास तौर से सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा किये गए कार्यों की बात की।

संतोष विहिप के छत्तीसगढ़ प्रान्त कार्यकारी अध्यक्ष

भिलाईनगर। विश्व हिन्दु परिषद छत्तीसगढ़  प्रान्त के कार्यकारी अध्यक्ष पद पर समाजसेवी उद्योगपति संतोष गोलछा को नियुक्त किया गया है। विश्व हिन्दु परिषद केन्द्रीय कार्य समिति की बैठक वाड़ताल अहमदाबाद गुजरात में संपन्न हुई जिसमें विश्व हिन्दु परिषद के केन्द्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने छत्तीसगढ़ प्रान्त के कार्यकारी अध्यक्ष पद पर संतोष गोलछा को मनोनित किया है। संतोष गोलछा के मनोनयन पर विश्व हिन्दु परिषद छत्तीसगढ़ प्रान्त के अध्यक्ष रमेश मोदी, महासचिव विभुति नारायण, कौशलेन्द्र प्रताप सिंह, रतन यादव, गौतम जैन, एस.एम.उमक, उद्योगपति विजय गुप्ता, अशोक सूरी, सत्यनारायण अग्रवाल, ए.एन.सिंह, सतीश झाम, के.के.झा, गणेश सिंह बबलू, प्रकाश गोलछा, अरविन्दर सिंह खुराना, व्यास नारायण शुक्ला, बृजेश बिजपुरिया, ओ.पी.वर्मा, रामाश्रय दुबे, शंकरलाल देवांगन ने हर्ष व्यक्त करते हुए संतोष गोलछा को बधाई दी है।

साध्वी ऋतंभरा का विमानतल पर गरिमामय स्वागत

रायपुर। त्रिदिवसीय श्री मंगलमानस अनुष्ठान के लिए गुरूवार शाम विमान से साध्वी ऋतंभराजी रायपुर पहुंची। विमानतल पर समिति के सदस्यों ने सादगीपूर्ण गरिमामय ढंग से उनका स्वागत किया। विमानतल पर जय-जय श्री राम, जय श्रीकृष्ण राधे का उद्घोष भक्तजन कर रहे थे। कृषि एवं जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, महापौर प्रमोद दुबे, श्री मंगलमानस अनुष्ठान आयोजन समिति के अध्यक्ष श्री रमेश मोदी, साध्वी शिरोमणि, साध्वी सम्पूर्णा, साध्वी सनातनी, साध्वी सत्यकीर्ति, विजय अग्रवाल, मनोज कोठारी, डा. अमर अग्रवाल, अनिता खंडेलवाल, सचिन मेघानी सहित समिति के सदस्यगण भारी संख्या में विमानतल पर उपस्थित थे।

महिलाओं का हो रहा उत्पीड़न चिंता का विषय : भंसाली

रायपुर। वर्ल्ड विजन ग्रुप द्वारा राजधानी के भनपुरी स्थित पाटीदार भवन के हॉल में झुग्गी झोपड़ी एवं स्लम ऐरीया में रहने वाली लड़कियों के लिए 2 दिवसीय नि:शुल्क सेल्फ डिकेन्स प्रोग्राम की शुरूआत की गई। पहले दिन 120 बालिकाओं ने नेशनल कराटे चेम्पियन हर्षा साहू एवं राजा दुबे से सेल्फ डिकेन्स की ट्रेनिंग ली। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पब्लिक इश्यू सोशल फाउन्डेशन के चेयरमैन नितिन भंसाली ने वर्ल्ड विजन ग्रुप द्वारा आयोजित सेल्फ डिफेन्स प्रोग्राम की प्रसंशा करते हुए अपने उद्बोधन में बालिकाओं और नारियों के ऊपर हो रहे अत्याचार पर चिन्ता व्यक्त करते हुए सेल्फ डिकेन्स की ट्रेनिंग के साथ साथ पर्सनालिटि डेवलपमेंट ट्रेनिंग पर भी महिलाओं और बालिकाओं को प्रशिक्षित किए जाने की बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे एल्डरमेन जितेन्द्र बड़वानी ने इस प्रकार के आयोजन में हर संभव मदद दिए जाने का आश्वासन दिया। विषिष्ट अतिथि राष्ट्रीय जैन युवा संगठन के उपाध्यक्ष लोकेश जैन, वर्ल्ड विजन ग्रुप के प्रोग्राम आॅफिसर स्वर्णकार जी एवं विनय सागर उपस्थित रहे।