Daily Archives: July 2, 2017

गुंडागर्दी के विरोध में थाने का घेराव

रायपुर.धरसींवा मोहदी के पास स्थित देवी स्पंज आयरन फैक्टरी द्वारा अचानक दो सौ से अधिक की संख्या में गुंडे बुलाकर छत्तीसगढ़िया मजदूरों एवं कर्मचारियों को जान से मारने की कोशिश की गयी,इस मामले को लेकर जब थाने में फरियाद करने गये तो उल्टा कर्मचारियों मजदूरों पर अपराधिक मामलें दर्ज करने की कोशिश की जा रही हैं. उक्त घटना के विरोध में आज धरसींवा रेस्ट हाउस में सर्वदलीय बैठक की गयी एवं धरसींवा थाने का घेराव किया गया जिसमे प्रमुख रूप से किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष माननीय चंद्रशेखर शुक्ला जी,ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष उधो वर्मा,सालिक शर्मा जी,किसान कांग्रेस जिला अध्यक्ष प्रशांत ठाकुर,शाहिल खान,मजदूर नेता बाबा खान,यु.का. महासचिव विरेन्द्र दुबे सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण लोग तथा मजदूर एवं कर्मचारी उपस्थित थे.

2020 में यूएस के राष्ट्रपति चुनाव पर डेमोक्रेट सीनेटर हैरिस की नजर

न्यूयार्क। 2020 में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले डेमोक्रेट सहयोगियों के लिए भारतीय मूल की पहली महिला सीनेटर कमला हैरिस फंड जमा करने में जुटी हैं। हाल के दिनों में वे अटार्नी जनरल जेफ सेंशंस की वजह से खबरों में रही हैं। अमेरिकी सीनेट में भारतीय मूल की पहली महिला कमला हैरिस को डेमोक्रेट पार्टी की ओर से 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार चुने जाने की संभावना है। वह अमेरिका के सबसे बड़े राज्य कैलिफोर्निया से दो बार अटार्नी जनरल रह चुकी हैं। उन्होंने कैलिफोर्निया से ही सीनेट का चुनाव भारी मतों से जीता है। सीएनएन के अनुसार, 2017 के शुरूआती 6 महीनों में हैरिस ने एक दर्जन सीनेट सहयोगियों के लिए स्मॉल डॉलर आॅनलाइन से 365,000 डॉलर समेत 600,000 डॉलर से अधिक जमा कर लिया है। रिपोर्ट के अनुसार, इस साल के अंत में राशि जुटाने के लिए हैरिस के यात्रा पर जाने की संभावना है। हाल मे ही उन्होंने अफ्रीकी अमेरिकी संगीत के लिए जश्न मनाने को लेकर स्पोटिफाई प्लेलिस्ट को रिलीज किया। सीनेटर हैरिस उन उम्मीदवारों के लिए फंड इकट्ठा करने के साथ कैंपेन कर सकती हैं जिन्हें उनके समर्थन से फायदा हो सकता है जिसमें ओहियो सीनेटर शेरोड ब्राउन शामिल भी हैं। इसके साथ ही कैलिफोर्निया में सदन की रिपब्लिकन के सात सीटों पर भी उनका ध्यान होगा।

कुंबले से विवाद मामले में कोहली को क्लीन चिट

नई दिल्ली। भारतीय कप्तान विराट कोहली को मुख्य कोच अनिल कुंबले के साथ मतभेद पर प्रशासनिक मैनेजर कपिल मल्होत्रा की रिपोर्ट में क्लीन चिट दी गई है। चैंपियंस ट्रॉफी के बाद पूर्व लेग स्पिनर कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। भारत घरेलू सरजमीं या फिर विदेशी सरजमीं पर जो भी सीरीज खेलता है उसके लिए प्रशासनिक मैनेजर की रिपोर्ट अनिवार्य है और आम तौर पर इसे महज औपचारिकता माना जाता है। कुंबले के इस्तीफे को देखते हुए हालांकि बीसीसीआइ ने विशेष तौर पर क्रिकेट क्लब आॅफ इंडिया के मल्होत्रा को निर्देश दिया था कि वह इंग्लैंड में कोहली और कुंबले के बीच मतभेद की घटना पर रिपोर्ट दें।

फ्लाइट की तरह अब ट्रेनों में भी होगी इकोनॉमी एसी क्लास

नई दिल्ली। जल्द ही फ्लाइट की तरह ही ट्रेनों में भी इकोनॉमी क्लास शुरू होने जा रहा है। बताया जा रहा है कि इकोनॉमी एसी क्लास का किराया एसी-3 से कम होगा। आने वाले समय में शुरू होने वाली फुल एसी ट्रेनों में एसी-3, एसी-2 और एसी-1 के अलावा अब थ्री-टियर इकोनॉमी एसी कोच भी लगाए जाएंगे। फिलहाल देश के अलग-अलग रूटों पर चलने वाली ट्रेनों में स्लीपर, थर्ड एसी, सेकंड एसी और फर्स्ट एसी बोगियां होती हैं। वहीं राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनें पूरी तरह से वातानुकूलित ट्रेनें हैं, जिनमें एसी की तीन श्रेणियां होती हैं। हाल में ही शुरू हमसफर और तेजस भी पूरी तरह से एसी ट्रेनें हैं। दरअसल, रेल विभाग कुछ रूटों पर पूर्णत: वातानुकूलित ट्रेनें शुरू करने की योजना बना रहा है। इसका मकसद ज्यादातर यात्रियों को सामान्य बजट में एसी का सफर मुहैया कराना है। इसी क्रम में रेलवे ने पिछले दिनों हमसफर एक्सप्रेस और तेजस जैसी फुल एसी ट्रेनें शुरू की हैं। हमसफर एक्सप्रेस में सारी बोगियां थर्ड एसी की हैं। इसे हाल में ही शुरू किया गया है और कम समय में ही यह ट्रेन लोकप्रिय हो गई है। यह देश की प्रीमियम ट्रेनों में से एक है और इसमें सुरक्षा और यात्रियों की सुविधा की हर संभव व्यवस्था की गई है। हालांकि, अभी इकोनॉमी एसी कोच का मामला प्लानिंग लेवल पर ही है। इस पर विस्तार से काम करना बाकी है। इसके विस्तृत पहलुओं को अंतिम रूप देने के बाद ही इसके निर्माण से जुड़ी बातों पर फैसला किया जाएगा।

200 रुपए के नए नोट की छपाई शुरू

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद सरकार अब बाजार में खुले की किल्लत को कम करने में लगी है। इसी कड़ी में रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया जल्द ही 200 रुपए का नया नोट लेकर आने वाली है और इसके लिए नोट की छपाई भी शुरू हो चुकी है। साथ ही नोट के सिक्युरिटी फीचर्स की टेस्टिंग भी जारी है। अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार रिजर्व बैंक ने अपनी कुछ यूनिट्स में नए नोट की छपाई शुरू कर दी है। खबर के साथ जो तस्वीर दिख रही है, उसे ही 200 रुपए का नया व असली नोट बताया जा रहा है। रिजर्व बैंक ने मार्च में हुई एक बैठक में 200 रुपए के नोटों को लागू करने का फैसला किया था। घोष के अनुसार, 200 रुपए का नोट बाजार में आने के बाद छोटे नोटों की कमी पूरी करने में मदद मिलेगी।

प्रविजनल आईडी ही बनेगा फाइनल जीएसटी नंबर

नई दिल्ली। आजादी के बाद का देश का सबसे बड़ा कर सुधार जीएसटी 1 जुलाई से अस्तित्व में आ गया है। दावा किया जा रहा है कि इससे अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और भ्रष्टाचार में कमी आएगी। जीएसटी के तहत टैक्स रेट के 4 स्लैब बने हैं जो 5 प्रतिशत, 12 प्रतिशत, 18 प्रतिशत और 28 प्रतिशत हैं। एक तरफ जहां इस ऐतिहासिक टैक्स सिस्टम ने ‘एक देश, एक कर’ के सपने को साकार किया है, वहीं दूसरी तरफ लोगों में इसने चिंता भी बढ़ाई है कि यह उनके बिजनस, वित्तीय स्थिति और रोजमर्रा की जिंदगी को कैसे प्रभावित करेगा। जीएसटी को लेकर लोगों के मन में तमाम तरह के मिथक हैं। राजस्व सचिव हसमुख अढ़िया ने रविवार को जीएसटी के बारे में बनी कुछ गलत धारणाओं को दूर करने की कोशिश की। उन्होंने ट्विटर पर जीएसटी के बारे में बने कुछ कॉमन मिथकों और सच्चाई क्या है, उसके बारे में बताया।

मिथक- जीएसटी रेट पहले के वैट की तुलना में ज्यादा है।
सच्चाई- ऐसा इसलिए लगता है क्योंकि पहले ऐक्साइज ड्यूटी और दूसरे कर अदृश्य थे जबकि अब ऐसे सभी कर जीएसटी में समाहित हैं। इस वजह से यह ज्यादा दिख रहा है।

मिथक- सभी तरह के इनवॉइस (बिल) सिर्फ कंप्यूटर/इंटरनेट द्वारा ही तैयार होंगे।
सच्चाई- इंटरनेट की जीएसटी के लिए मंथली रिटर्न भरते वक्त ही जरूरत होगी।

मिथक- मेरे पास प्रविजनल आईडी है लेकिन बिजनस करने के लिए फाइनल आईडी का इंतजार कर रहा हूं।
सच्चाई- प्रविजनल आईडी ही आपका फाइनल जीएसटी नंबर होगा।

मिथक- ट्रेड का कोई आइटम जो पहले टैक्स के दायरे से बाहर था लेकिन अब बिजनस शुरू करने से पहले रिटेलर को नया रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
सच्चाई- आप बिजनस जारी रख सकते हैं। 30 दिनों को भीतर रजिस्ट्रेशन करा लें।

मिथक- हर महीने 3 रिटर्न भरना होगा।
सच्चाई- सिर्फ एक रिटर्न भरना है जो तीन हिस्सों में है। पहला हिस्सा डीलर द्वारा भरा जाएगा और बाकी दोनों हिस्सों कंप्यूटर द्वारा आॅटोमैटिकली भरे जाएंगे।

मिथक- यहां तक कि छोटे डीलरों को भी रिटर्न में बिलवार डीटेल भरना होगा।
सच्चाई- जो लोग रिटेल बिजनस में हैं उन्हों कुल बिक्री का सिर्फ सारांश ही बताना होगा।

गड़बड़ी कर ज्यादा कीमत पर दिया गया एनीकट का टेंडर

–तीन अफसरों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ
रायपुर। बढ़ी हुई कीमत पर टेंडर देने के मामले में जल संसाधन विभाग के तीन अफसरों पर ईओडब्ल्यू में केस रजिस्टर्ड किया गया है। जिन तीन अफसरों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है उसमें जल संसाधन विभाग के मिनीमाता हसदेव बांगो परियोजना के मुख्य अभियंता आर एन दिव्य, अधीक्षण अभियंता बी आर लाड़िया और कार्यपालन अभियंता मधुकर कुंभारे का नाम शामिल हैं। आरएन दिव्य हसदेव बांगों परियोजना में बिलासपुर में पदस्थ हैं। जबकि बीआर लाड़िया और मधुकर कुंभारे हसदेव परियोजना मंडल के रामपुर कोरबा में पदस्थ हैं। इन तीनों पर पद का दुरुपयोग करते हुए टेंडर प्रक्रिया में गड़बड़ी करने का शिकायत पत्र एसीबी में भेजा गया था। ईओडब्ल्यू की तरफ से भेजी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि कम कीमत पर काम करने को तैयार ठेकेदारों को जानबूझकर टेंडर प्रक्रिया से बाहर किया गया और उनके बदले कोरबा के सरवेश्वर एनीकट के निर्माण का टेंडर नागपुर की एक कंपनी डी ठक्कर कंस्ट्रक्शन को दिया गया। इससे सरकार को करोड़ों का नुकसान हुआ। इस मामले में तीनों अफसरों के खिलाफ 420-120बी भादवि के तहत मामला दर्ज किया गया है।

राम को पाना है तो पहले खुद को बदलना होगा

रायपुर। हमारा मानस मंगल होगा तो भारत का मंगल होगा और जब भारत का मंगल होगा तो सारे विश्व का मंगल होगा। इसके ओज से परिवार, समाज और राष्ट्र खिलेगा। आसक्ति से बंधी हुई चित्त और चेतना कभी सुखी नहीं रह सकती है। भारत एक विचार ही नहीं जीवन पद्धति है जो किसी देश की सेवा में बांधा नहीं जा सकता। हम दुनिया को बदल रहे हैं कि दुनिया हमें बदल रही है, क्या हो गया है हम भारतीयों को? भारत के वातावरण में सात्विकता देश की नारियां ही पैदा कर सकती हैं। राम को पाना है तो पहले खुद को बदलना होगा। श्री मंगल मानस अनुष्ठान के समापन दिवस पर रविवार को साध्वी ऋतंभरा ने धर्म, राष्ट्र, समाज व परिवार के लिए कई महत्वपूर्ण सूत्र सत्संग के बीच देते हुए देश की सांस्कृतिक विरासत को बचाने के लिए संकल्प भी दिलवाया।  फूलों की होली व बांसुरी की धुन पर नृत्य से इंडोर स्टेडियम में रविवार को ब्रज का नजारा दिख रहा था। स्वंय दीदी मां ऋतंभरा, ब्रज के कलाकार व उपस्थित जनसमुदाय साझा रूप से नाचने-गाने लगे तो सारी दूरियां समाप्त हो गई। सभी राधे-राधे, जय श्री कृष्णा-जय श्रीराम के उद्घोष करते हुए ऐसे रम गए कि पूरा वातावरण भक्ति के माहौल में तब्दील हो गया। आयोजन समिति के रमेश मोदी, मनोज कोठारी, साध्वी शिरोमणि, साध्वी सम्पूर्णा समेत सारे सदस्य भी काफी देर तक श्रद्धालुओं के साथ नाचते रहे।

मुझे राष्ट्रपति प्रणव की उंगली पकड़कर आगे बढ़ने का मौका मिला

नई दिल्ली। रविवार को एक बार फिर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मंच पर मौजूद थे। मौका था राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति की तस्वीरों पर आधारित एक बुक लॉन्च का। पीएम और राष्ट्रपति ने इस किताब ‘प्रेजिडेंट अ स्टेट्समैन’ का विमोचन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, ‘इस किताब में मौजूद तस्वीरों में हम अपने राष्ट्रपति के मानवीय पहलू भी देखने को मिलेंगे और हमें उन पर गर्व होगा।’ वहीं राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने पीएम की तारीफ करते हुए कहा, ‘निश्चित तौर पर हमारे विचारों में भिन्नता है, लेकिन इसने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के संबंधों को प्रभावित नहीं किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने राष्ट्रपति मुखर्जी की जमकर तारीफ की। मोदी ने कहा, ‘राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने मुझे पिता की तरह रास्ता दिखाया। मेरे जीवन का बड़ा सौभाग्य रहा कि मुझे प्रणव दादा की उंगली पकड़ कर दिल्ली की जिंदगी में स्वयं को सेट करने की सुविधा मिली। मेरा सौभाग्य है कि मैंने राष्ट्रपति मुखर्जी के साथ काम किया।’ पीएम ने कहा कि आपातकाल के दौरान उन्हें कई अन्य विचारधारा के लोगों के साथ काम करने का मौका मिला। वहीं राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने इस मौके पर कहा, मैं इस अवसर पर प्रधानमंत्री को अपनी गहरी आभार और प्रशंसा व्यक्त करता हूं। हमने करीबी सहयोग की तरह काम किया है’। बता दें कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म होने वाला है।

सुनील को बचाने में फंसे IAS गणेश

–घटिया एनीकट बनाने वाले ठेकेदार पर रहमोकरम पर आयोग सख्त
रायपुर । छत्तीसगढ़ में जल संसाधन विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार का पानी अब सिर से ऊपर हो गया है। घटिया एनीकट बनाने वाले ठेकेदार सुनील अग्रवाल पर विभाग के सचिव गणेश शंकर मिश्र का रहमोकरम है। इसे लेकर अनुसूचित जाति जनजाति आयोग सख्त हो गया है। आयोग ने जल संसाधन विभाग के सचिव गणेश शंकर मिश्र को समन जारी कर व्यक्तिगत रुप से तलब किया है। ये समन घटिया एनीकट मामले में जारी किये गये नोटिस का जवाब ना देने पर जारी किया गया है। 19 जुलाई को अनुसूचित जनजाति आयोग ने श्री मिश्र को व्यक्तिगत रूप से हाजिर होने का हुक्म दिया है। राज्य के किसी भी आईएएस अफसर के खिलाफ राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति की ये दूसरी बड़ी कार्यवाही है। इससे पहले कुनकुनी जमीन घोटाले में भी कलेक्टर, एसपी और डीआरएम को आयोग में तलब किया गया था। जल संसाधन विभाग के ठेकेदार सुनील अग्रवाल के खिलाफ शिकायतों पर जारी हुए नोटिस को लगातार सचिव गणेश शंकर मिश्र नजरअंदाज कर रहे थे। इसके बाद आयोग ने ये समन जारी किया है। आयोग को शिकायत मिली थी कि ठेकेदार सुनील अग्रवाल ने राज्य के आदिवासी इलाकों और दूसरे क्षेत्रो में ज्यादातर एनीकट घटिया क़्वालिटी के बनाये हैं। जो भुगतान होने के बाद या तो बह गए या क्षतिग्रस्त हो गए है। इस मामले में विभाग की ओर से न तो ठेकेदार पर कोई कार्रवाई की गई और न ही उससे वसूली की गयी। इसी शिकायत पर आयोग ने विभाग से जवाब तलब किया था लेकिन विभाग ने दो नोटिस के बाद भी आयोग को कोई जवाब नही दिया।