नेपाल में शेर बहादुर देउबा चौथी बार बने प्रधानमंत्री

काठमांडू। नेपाल की संसद में विपक्ष का गतिरोध समाप्त होने के बाद हुए चुनाव में नेपाली कांग्रेस पार्टी के मुखिया शेर बहादुर देउबा को प्रधानमंत्री चुना गया है। नेपाली संसद के स्पीकर ओनसारी घार्ती ने बताया कि मंगलवार को हुए चुनाव में 593 सदस्यों वाले सदन के558 सदस्यों ने मतदान किया था। इनमें से देउबा के पक्ष में 388 वोट मिले। वह माओवादी पार्टी के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड की जगह लेंगे। प्रचंड ने पिछले महीने नेपाली कांग्रेस के साथ सत्ता हस्तांतरण को लेकर हुए एक समझौते के तहत इस्तीफा दे दिया था। देउबा पहले भी तीन बार नेपाल के प्रधानमंत्री रह चुके हैं। वह 1995-97, 2001-2002 और 2004-2005 में प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। नेपाल के आखिरी राजा ज्ञानेंद्र ने 2002 में माओवादी हिंसा को रोकने में असफल रहने के आरोप में उन्हें पद से हटा दिया था और चुनाव कराए थे। इसके बाद 2004 में वह सत्ता में लौटे, लेकिन 2005 में एक बार फिर उन्हें पद से बेदखल होना पड़ा। इसके बाद फैली राजनीतिक अस्थिरता का अंत नेपाल में 239 साल पुरानी राजशाही की समाप्ति के साथ ही हुआ था। प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद देउबा के पर 28 जून तक चार प्रांतों में स्थानीय निकाय चुनाव कराने और अगले साल जनवरी में प्रांतीय और संसदीय चुनाव कराने की जिम्मेदारी है। वामपंथी दल के नेता पुष्प कमल दहल प्रचंड ने इस करार के बाद ही पद से इस्तीफा दिया था। उम्मीद जताई गई है कि देउबा छोटे मंत्रिमंडल का गठन करेंगे और कुछ दिनों बाद इसका विस्तार करेंगे। इसमें कुछ मधेशी पार्टियां भी शामिल हो सकती हैं। देउबा को माओवादी पार्टी और कुछ अन्य छोटे दलों का समर्थन मिला है। प्रचंड और देउबा के बीच राष्ट्रीय चुनावों तक के लिए यह डील हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *