नारायणपुर के भ्रष्ट एडीएम संतोष देवांगन बर्खास्त

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भ्रष्टाचारविरोधी मुहिम का आंशिक असर छत्तीसगढ़ में नजर आने लगा है। शनिवार को राज्य सरकार ने भ्रष्टाचार के मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए नारायणपुर में तैनात एडीएम संतोष देवांगन को बर्खास्त कर दिया। संतोष पर बिलासपुर जिले में एसडीएम के पद पर पदस्थ रहने के दौरान जमीन घोटाले में शामिल होने का आरोप है। भ्रष्टाचार के इस आरोप में पिछले महीने 7 जून को बिलासपुर जिले में एक अदालत ने भ्रष्टाचार के मामले में संतोष के विरुद्ध 7 वर्ष की कैद और डेढ़ लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई थी। संतोष देवांगन पर बिलासपुर में एसडीएम रहने के दौरान जमीन के एक मामले में अपने पद का दुरुपयोग करते हुए षड़यंत्र कर शासन को आर्थिक क्षति पहुंचाने का आरोप है। बिलासपुर के लिंगियाडीह निवासी कमलेश शुक्ला ने सात दिसंबर वर्ष 2009 को ऐंटी करप्शन ब्यूरो में शिकायत की थी। इसमें राजकिशोर नगर निवासी सरदारी लाल कश्यप की ओर से शिवदयाल कश्यप, कॉलोनाइजर चितपाल सिंह वालिया समेत 9 लोगों के खिलाफ कॉलोनी निर्माण से आने-जाने के रास्ते पर अवरोध, शासकीय जमीन पर सड़क निर्माण और अन्य अनियमितताओं से संबंधित शिकायतों का उल्लेख था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *